छत्तीसगढ़

मतगणना के दौरान चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे 30 हजार से अधिक जवान

रायपुर।

विधानसभा चुनाव की मतगणना के दौरान शहरी इलाकों में 30 हजार से अधिक जवानों को तैनात किया जाएगा। वह किसी भी तरह की अप्रिय स्थिति से निपटने के लिए मतगणना स्थल से लेकर चौक-चौराहों और संवेदनशील इलाके में मौजूद रहेंगे। किसी भी तरह का उपद्रव और हुड़दंग मचाने वालों के साथ सख्ती से निपटेंगे।

गौरतलब है कि राज्य के सभी 90 विधानसभा सीटों की मतगणना 11 दिसम्बर को सभी जिला मुख्यालय में होगी। इस दौरान सभी दलों के वरिष्ठ नेता से लेकर प्रत्याशी उपस्थित रहेंगे। मतगणना का रूझान सामने आते ही विवाद की स्थिति भी निर्मित हो सकती है। इससे निपटने के लिए सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया गया है।

जवानों को प्रशिक्षण

मतगणना के पहले जिलास्तर पर पुलिसकर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। साथ ही ड्यूटी पर तैनात किए जाने राजपत्रित अधिकारियों की सूची भी बनाई जा रही है। मतगणना के दौरान सेक्टरों में बांटकर उन्हें जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। ज्ञात हो कि मतगणना के दिन राजधानी में जीत-हार और इवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ और गड़बड़ी के आरोप को लेकर विवाद हो सकता है। पराजित प्रत्याशी और उसके समर्थक इस बात को लेकर नारेबाजी और प्रर्दशन बी कर सकते है।

सुरक्षा का लेंगे जायजा

मतगणना के पहले राज्य के पुलिस के अफसर सुरक्षा व्यवस्था की समीक्षा करने में जुटे हुए है। शीघ्र ही वह मतगणना स्थल और इसका आसपास का निरीक्षण कर जवानों की तैनाती का फैसला करेंगे। ज्ञात हो कि 11 दिसम्बर होने वाली मतगणना के दौरान पूरे देशभर की निगाह चुनाव परिणामों पर रहेगी। लोग पल-पल की जानकारी लेने के लिए मतगणना स्थल और अन्य सार्वजनित स्थानों पर इकत्रित होंगे। इस दौरान आरोप-प्रत्यारोप लगाए जाने से विवाद हो सकता है।

आइजी रायपुर रेंज दीपांशु काबरा ने कहा, मतगणना के दौरान सुरक्षा व्यवस्था के पर्याप्त इंतजाम किए जाएगें। किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए अफसरों को जिम्मेदारी सौंपी जाऐगी।

Summary
Review Date
Reviewed Item
मतगणना के दौरान चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेंगे 30 हजार से अधिक जवान
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags