दुर्ग से रायपुर एनएच के सर्विस रोड में रात भर चल रहा मरम्मत का कार्य

अधिकारी लगातार कर रहे कार्य की मॉनिटरिंग

रायपुर, 25 सितंबर 2021 : प्रदेश की महत्वपूर्ण तथा सर्वाधिक आवागमन वाली दुर्ग से रायपुर नेशनल हाईवे सड़क में सुगम यातायात के लिए उसकी सर्विस रोड के गड्ढों में कांक्रीट भरने सहित मरम्मत का कार्य निरंतर जारी है। यह कार्य विभागीय अधिकारियों के निर्देशन में देर रात तक हो रहा है, ताकि बारिश की वजह से बन रहे गड्ढों से सुबह यातायात किसी तरह से बाधित न हो।

गौरतलब है कि विगत दिवस इस संबंध में सचिव लोक निर्माण विभाग सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी तथा कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों एवं निर्माण एजेंसी की बैठक ली थी। बैठक में एजेंसी को साफ निर्देशित किया गया है कि दुर्ग से रायपुर तक की नेशनल हाईवे रोड सर्वाधिक आवागमन वाली प्रदेश की सबसे महत्वपूर्ण सड़क है, जहां पर रोज हजारों लोग आवाजाही करते हैं। इस सड़क के निर्माण कार्य में कतई विलंब नहीं होना चाहिए।

अधिकारियों ने निर्माण एजेंसियों को ट्रैफिक मार्शल नियुक्त करने तथा सर्विस रोड के लगातार मरम्मत कराने तथा जहां कहीं भी अवरोध है, इसे दूर करने के निर्देश दिए थे। इसके अनुपालन पर लगातार कार्यवाही की जा रही है। एन एच के अधिकारी 24 घंटे सड़क की मॉनीटरिंग कर रहे हैं तथा मरम्मत कार्य तेजी से पूरा किया जा रहा है।

एनएच की सर्विस रोड 

इस तारतम्य में रायपुर से दुर्ग तक आने जाने वाले नागरिकों को राहत देने के लिए एनएच की सर्विस रोड के गड्ढों में कंक्रीट भरने का कार्य निरंतर जारी है। देर रात एवं सुबह भी गड्ढों में पैच वर्क का कार्य हो रहा है। बारिश होने से लगातार सड़कों में गड्ढे बन रहे हैं, जिनका त्वरित पैच वर्क किया जा रहा है। नेशनल हाईवे रोड के अधिकारियों ने बताया कि इसके साथ ही ट्रैफिक मार्शल भी नियुक्त किए गए हैं। यह ट्रैफिक मार्शल ट्रैफिक को दुरुस्त करने एवं व्यवस्थित करने की दिशा में पुलिस की मदद कर रहे हैं।

ओवरब्रिज का निर्माण कार्य भी तेजी से कराया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि युद्ध स्तर पर रात दिन यह कार्य किया जा रहा है और इसकी लगातार मॉनिटरिंग की जा रही है। उल्लेखनीय है कि कुम्हारी ओवर ब्रिज का कार्य 15 अक्टूबर तक छोटी गाड़ियों की आवाजाही के लिए पूरा होना है और बड़ी गाड़ियों के लिए से 15 नवंबर तक यह कार्य होना है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button