उल्लू’ की बलि देकर खुद उल्लू बन गया सिरफिरा आशिक, पहुंचा जेल

-दूसरे की बीवी और पैसे हासिल करने कर रहा था तंत्र-मंत्र

नई दिल्ली।

21वीं सदी में भी लोग टोने-टोटके और काले जादू पर अपनी क्षमता और योग्यता से ज्यादा विश्वास करते हैं। ऐसा ही एक मामला दिल्ली में देखने को मिला है। यहां दूसरे की खूबसूरत बीबी और उसकी संपत्ति को हासिल करने के लालच में एक व्यक्ति ने उल्लू की बलि दे दी। पड़ोसियों को जब इसकी भनक लगी तो उन्होंने शिकायत कर दी। सिरफिरा आशिक अब जेल में चक्की पीस रहा है।

बता दें कि देश की राजधानी दिल्ली में के सुल्तानपुरी के रहने वाले कन्हैया लाल नाम के शख्स ने यह हरकत की। आरोपी ने पुलिस को पूछताछ में बताया है कि वह एक महिला से प्यार करता है और उसे अपना बनाने के लिए तंत्र-मंत्र कर रहा था। वह उससे शादी भी करना चाहता था, लेकिन महिला उसे प्यार नहीं करती थी।

ऐसे में कन्हैया के जीजा ने बताया कि उल्लू की बलि देने से उसकी यह मनोकामना पूरी हो सकती है। इसके बाद उसने उल्लू की तलाश शुरू कर दी। पुलिस जांच में पता चला कि कन्हैया इलाके में काफी दिन से तंत्र-मंत्र करता है और आस-पास की महिलाएं उससे अपनी समस्या का समाधान करवाने भी आती हैं।

पूछताछ में बताया कि वह एक महिला से प्यार करता है और उसे वश में करने के लिए तंत्र-मंत्र कर रहा था। पड़ोसियों ने बताया कि कन्हैया अक्सर आधी रात को घर की लाइट जलाकर मंत्रोच्चार करता था। इससे पड़ोसी डर गए और उन्होंने आधी रात को इसकी जानकारी ऐनिमल वेलफेयर बोर्ड से की।

इसके बाद पूरा मामला स्थानीय पुलिस तक पहुंच गया। फिर पुलिस ने रविवार को कन्हैया के घर में कूलर के अंदर से मरे हुए उल्लू को बरामद कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के इस कुकृत्य में उसका साथ उसके जीजा ने दिया।

आरोपी के जीजा ने 15 दिन पहले अपने उल्लू लाकर भी दिया था और तंत्र-मंत्र कैसे करना है, इसके बारे में भी बताया था। पेशे से ड्राइवर आरोपी की पत्नी के अलावा तीन बच्चे भी हैं। पुलिस ने आरोपित के घर से बरामद मृत उल्लू को पोस्टमार्टम के लिए राजौरी गार्डन स्थित संजय गांधी पशु चिकित्सालय भेज दिया है। आरोपित के खिलाफ वन्य जीव सरंक्षण अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज किया गया गया है।

Tags
Back to top button