पद्मावत के विरोध में दिल्ली-जयपुर हाइवे जाम, करणी सेना ने दी चेतावनी

इस बीच करणी सेना ने फिर से धमकी दी है कि वह फिल्म रिलीज नहीं होने देगी

पद्मावत के विरोध में दिल्ली-जयपुर हाइवे जाम, करणी सेना ने दी चेतावनी

संजय लीला भंसाली की चर्चित फिल्म पद्मावत को लेकर विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। सुप्रीम कोर्ट की ओर से हरी झंडी मिलने के बावजूद देश के अलग-अलग इलाकों में इस फिल्म के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन हो रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने गुरुग्राम के वजीरपुर-पटौदी रोड पर जमकर आगजनी की। उन्होंने दिल्ली-जयपुर हाइवे को जाम कर दिया। मध्य प्रदेश के होशंगाबाद में भी करणी सेना के सदस्यों ने विरोध-प्रदर्शन किया।

इस बीच करणी सेना ने फिर से धमकी दी है कि वह फिल्म रिलीज नहीं होने देगी। फिल्म पर उपजे विवाद और हिंसक हो चुके विरोध के बीच करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष लोकेंद्र सिंह कालवी मीडिया के सामने आए। कालवी ने माना कि फिल्म का हिंसक विरोध कर रहे लोग करणी सेना के कार्यकर्ता हैं। माफी मांगने की बात पर काल्वी ने कहा, ‘मैं माफी तो मांगता हूं, लेकिन मां पद्मावती से माफी मांगता हूं।’

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

कालवी ने गिरफ्तारी की आशंका जताई
पूरी कॉन्फ्रेंस के दौरान कालवी ने एक बार भी नहीं कहा कि हिंसा करना गलत है और ऐसा नहीं होना चाहिए। कालवी ने अपनी गिरफ्तारी की आशंका भी जताई और कहा कि शायद यह गिरफ्तारी से पहले मेरी आखिरी कॉन्फ्रेंस हो। उन्होंने कहा, ’25 जनवरी को हमने जनता कर्फ्यू की मांग की है और लोगों से सहयोग करने को कहा है। गुजरात और राजस्थान में डिस्ट्रिब्यूटर भी हमसे बात कर चुके हैं और फिल्मों की स्क्रीनिंग न करने की बात कह चुके हैं।’

मुंबई पुलिस के एक अधिकारी ने कहा है कि पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे करणी सेना के 35 से ज्यादा समर्थकों को हिरासत में लिया गया है। वहीं, अहमदाबाद में भी 44 लोगों को हिरासत में लिया गया है। मंगलवार को अहमदाबाद के कई मॉल्स को निशाना बनाते हुए आगजनी और तोड़फोड़ की गई थी। तोड़फोड़ मामले में पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। अहमदाबाद में हार्ट अलर्ट है और पुलिस ने सुरक्षा कड़ी कर दी है।

‘हम पद्मावत को हटा रहे हैं’
कालवी ने कहा, ‘पहले पद्मावती फिल्म आ रही थी, जिसे हमारे विरोध के बाद पद्मावत किया गया। लोग पद्मावत देखने जा रहे हैं, पद्मावती नहीं देखेंगे। अब हमारा विरोध पद्मावत के लिए हैं। हम किसी थिअटर के मालिकों को कमाई नहीं करने देंगे। मंगलवार को मैं गुजरात में था और महात्मा गांधी की जन्मस्थली में था। महात्मा गांधी ने अंग्रेजों को हटाया था, हम पद्मावत को हटा रहे हैं।’

कालवी ने कहा कि जिन राज्यों में प्रतिबंध नहीं लगा है, हमारे लोग वहां होंगे। कालवी ने गुजरात और महाराष्ट्र में 148 लोगों की गिरफ्तारी की बात भी स्वीकार की। कालवी ने कहा, ‘भंसाली ने इस पूरे विवाद को जन्म दिया और फिल्म के प्रचार के लिए यह तरीका आजमाया। दोष किसी का नहीं है, केवल भंसाली का है।’ पूरी वार्ता के दौरान एक बार भी कालवी ने हिंसा को गलत नहीं ठहराया।

रोहतक में हंगामा
हरियाणा के यमुनानगर में हंगामा की खबरें हैं। यहां एक सिनेमाहॉल के बाहर करणी सेना के कथित सदस्यों ने हंगामा किया। ऐसे में रोहतक और अन्य इलाकों में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। इधर, यूपी के मथुरा में पद्मावत के खिलाफ प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोकी। पद्मावत फिल्म 25 जनवरी को रिलीज होने वाली है। इस फिल्म की रिलीज का करणी सेना कड़ाई से विरोध कर रही है।

इससे पहले बिहार में भी संगठन ने फिल्म के खिलाफ हिंसक प्रदर्शन किया था। यहां पटना में करणी सेना के कार्यकर्ताओं के विरोध और धमकी के मद्देनजर सिनेमाघरों को फिल्म की ऑनलाइन बुकिंग तक रद्द करनी पड़ी।

advt
Back to top button