पद्मावत: अहमदाबाद में करणी सेना के 2000 लोगों का मॉल में उत्पात, फूंकी 50 गाड़ियां

इस घटना पर करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी ने कहा है कि वह ऐसी हरकतों की आलोचना करते हैं

पद्मावत: अहमदाबाद में करणी सेना के 2000 लोगों का मॉल में उत्पात, फूंकी 50 गाड़ियां

संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मवात के विरोध में गुजरात में आगजनी बड़ी घटना सामने आई है. गुजरात की राजधानी अहमदाबाद में करणी सेना के सदस्यों ने एक मॉल में ही आग लगा दी.

बेकाबू भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को दो राउंड फायरिंग तक करनी पड़ी. आग की चपेट में मॉल और आसपास की दुकानें भी आ गईं.

प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि हिमालयन मॉल में आगजनी करने वालों की भीड़ में करीब 2 हजार तक लोग शामिल थे.

बताया जा रहा है कि करीब डेढ़ घंटे तक करणी सेना के सदस्यों ने पूरा इलाका जाम करके रखा था. इन्होंने मॉल और इसके आस-पास की दुकानों के साथ ही वहां खड़े वाहनों को भी आग के हवाले कर दिया. दर्जनों वाहन आग की चपेट में आ गए.

[responsivevoice_button voice=”Hindi Female” buttontext=”अगर आप पढ़ना नहीं
चाहते तो क्लिक करे और सुने”]

हिमालयन मॉल के मैनेजर राकेश मेहता ने कहा है कि उन्होंने मॉल के बाहर पहले ही एक बोर्ड में यह लिखकर टंगवा दिया था कि यहां पद्मावत फिल्म नहीं दिखाई जाएगी. उन्होंने कहा है कि इसके बावजूद मॉल को तबाह कर दिया गया.

हिमालयन मॉल के कार्निवल सिनेमा और इसके बाहर आगजनी करने के अलावा अहमदाबाद के थलतेज इलाके में भी पद्मावत के विरोध में एक्रो पोलिस मॉल में पथराव किया गया. इस मॉल के बाहर भी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया.

इस घटना पर करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी ने कहा है कि वह ऐसी हरकतों की आलोचना करते हैं. उन्होंने कहा है कि तोड़फोड़ की घटनाएं नहीं होनी चाहिए. कालवी ने कहा, ‘सबको सन्मति दे भगवान.’

इस मामले पर गुजरात के गृह राज्य मंत्री प्रदीप सिंह ने आजतक से बातचीत में कहा है कि उत्पात मचाने वाले 30 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने कहा है कि अभी इन लोगों से पूछताछ जारी है कि ये किस संगठन से हैं. उन्होंने कहा है कि विरोध करने वालों को अशांति फैलाने की छूट नहीं दी जाएगी.

1
Back to top button