गंभीर बीमारी की चपेट में पाक आतंकी, भाई संभाल रहे है संगठन की जिम्मेदारी

पाकिस्तान के रावलपिंडी में स्थिति मिलिट्री हॉस्पिटल में हो रहा इलाज

इस्लामाबाद :

पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर गंभीर बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक 50 साल के अजहर का इलाज पाकिस्तान के रावलपिंडी में स्थिति मिलिट्री हॉस्पिटल में हो रहा है। उसे कम से कम डेढ़ साल तक बिस्तर पर रहना पड़ सकता है।

भारतीय खुफिया विभाग के अधिकारी ने बताया है कि सूद अजहर की तबीयत बेहद खराब है। खराब स्वास्थ्य के चलते उसका बिस्तर से उठना मुश्किल हो गया है। मसूद के भाई रऊफ असगर और अतहर इब्राहिम अब संगठन की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं और भारत व अफगानिस्तान में आतंकी गतिविधियां संचालित कर रहे हैं। उन्होंने कहा है कि अजहर के बीमार होने से भारत का काम आसान हो गया है।

रीढ़ की हड्डी और किडनी में दिक्कत

पहचान न बताने की शर्त पर खुफिया विभाग के अधिकारी ने बताया कि 50 वर्षीय अजहर को रीढ़ की हड्डी और किडनी में दिक्कत है। अजहर रावलपिंडी के कम्बाइंड मिलिट्री अस्पताल में इसका इलाज करवा रहे थे, लेकिन पिछले क़रीब डेढ़ साल से वो बिस्तर पर ही है।

वैश्विक आतंकी की सूची में शामिल है अजहर

आपको बता दें कि यूनाइटेड नेशन ने भी अजहर को वैश्विक आतंकी की सूची में रखा है और चीन ने भी उसे ब्लॉक कर रखा है। एचटी की रिपोर्ट के मुताबिक, भारतीय राजनयिक ने इसकी पुष्टि नहीं की है, लेकिन कहा है कि अजहर बीते वक्त में सार्वजनिक समारोह, अपने होमटाउन या कहीं और नहीं दिखा है।

भारत में कई आतंकी हमलों के पीछे मसूद का हाथ रहा है। इनमें 2001 संसद हमला, 2005 अयोध्या हमला और 2016 का पठानकोट आतंकी हमला शामिल है। अजहर मसूद को संयुक्त राष्ट्र में वैश्विक आतंकवादी घोषित करने के भारत के प्रयासों की राह में चीन हमेशा रोड़ा अटकाता रहा है।

Back to top button