राष्ट्रीय

पाकिस्तान ने एक बार फिर 10 दिनों की शांति के बाद पुंछ में की गोलीबारी

जम्मू एवं कश्मीर में बीती मंगलवार रात पुंछ जिले की नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारत और पाकिस्तान के बीच गोलीबारी हुई. रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के खरी कर्मरा इलाके में भारतीय चौकियों को निशाना बनाकर गोलाबारी और गोलीबारी की

भारत औपाकिस्तान के बीच गोलीबारी हुई, यह गोलीबारी जम्मू एवं कश्मीर में बीती मंगलवार रात पुंछ जिले की नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर हुई रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के खरी कर्मरा इलाके में भारतीय चौकियों को निशाना बनाकर गोलाबारी और गोलीबारी की.

वहीं, इससे पहले 18 मार्च को पुंछ जिले के बालाकोट सेक्टर के आवासीय इलाके में पाकिस्तान द्वारा दागे गए मोर्टार से एक परिवार के पांच सदस्यों की मौत हो गई थी व अन्य दो लोग घायल हो गए.

अधिकारी के अनुसार, “पाकिस्तान ने मंगलवार रात 8.30 बजे गोलीबारी शुरू की जो लगभग आधे घंटे तक जारी रही. भारतीय सेना ने इसका दृढ़तापूर्वक जवाब दिया.” सीमा पर 10 दिनों की शांति के बाद पाकिस्तान ने एक बार फिर संघर्षविराम का उल्लंघन किया.

इससे पहले जम्मू एवं कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा पर बीते रविवार को पाकिस्तान की ओर से की गई अंधाधुंध गोलाबारी व गोलीबारी में पांच नागरिकों की मौत हो गई और पांच सैनिकों समेत सात अन्य घायल हो गए थे. अधिकारियों ने इस बात की जानकारी दी. पुलिस ने कहा कि पाकिस्तानी सेना द्वारा सुबह दागा गया गोला पुंछ जिले के बालकोट क्षेत्र के देवता गांव में एक नागरिक के घर पर गिरा, जिसमें मुहम्मद रमजान चौधरी, उनकी पत्नी मल्का बी और तीन बेटों की मौत हो गई.

पुलिस ने कहा, “उनकी दो बेटियां गंभीर रूप से घायल हुईं हैं. उन्हें हवाई मार्ग से जम्मू शहर के सुपर स्पेशियालिटी सरकारी मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है.” पुलिस ने कहा कि पाकिस्तानी गोलीबारी व गोलाबारी में इलाके में पांच सैनिक भी घायल हुए हैं. भारतीय सेना द्वारा जवाबी कार्रवाई और दोनों पक्षों की गोलाबारी के बाद इलाके के नागरिकों को सुरक्षित स्थानों पर स्थानांतरित कर दिया गया.

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.