कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ हुए सलूक पर भारत की आपत्ति पर पाकिस्तान बोला, जूतों में कुछ संदिग्ध चीज थी

बयान में ये भी कहा गया है कि पाकिस्तान भारत के साथ बेमतलब से शब्दों की जंग में नहीं पड़ना चाहता है.

नई दिल्ली: कुलभूषण जाधव से मुलाक़ात के दौरान परिवारवालों से जिस तरह का सलूक हुआ, भारत ने उस पर कड़ा ऐतराज़ जताया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने बयान जारी कर कहा है कि पूरा माहौल परिवार को डराने वाला था.

उनके कपड़े तक बदलवाए गए. यहां तक कि जाधव की पत्नी के जूते तक वापस नहीं किए गए. उधर भारत की आपत्तियों पर पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि जाधव की पत्नी के जूते सुरक्षा के मद्देनज़र ज़ब्त किए गए थे क्योंकि उनमें कुछ संदिग्ध चीज थी.

बयान में ये भी कहा गया है कि पाकिस्तान भारत के साथ बेमतलब से शब्दों की जंग में नहीं पड़ना चाहता है.पाकिस्तान ने अपने बयान में कहा है कि अगर भारत की चिंताएं गंभीर थीं तो जाधव की मां-पत्नी या उप उच्चायुक्त उसे यात्रा के दौरान ही मीडिया के साथ उठाते जो वहीं मौजूद थी. पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता फ़ैसल मोहम्मद ने ये भी कहा कि जाधव की पत्नी के जूतों की जांच चल रही है.

इस्लामाबाद में अपने बेटे कुलभूषण जाधव से मिलने के एक दिन बाद उनकी मां और पत्नी ने मंगलवार को दिल्‍ली में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मुलाकात की. जाधव कथित जासूसी के मामले में पाकिस्तान में जेल में हैं और उन्हें वहां की एक अदालत ने फांसी की सजा सुनाई हुई है.

मुलाकात के दौरान सुषमा स्वराज के आवास पर विदेश सचिव एस. जयशंकर और विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार, जाधव की मां अवंती और पत्नी चेतानकुल के साथ थे.

भारत सरकार की ओर से ये कहा गया कि हमें इस बात का भी खेद है कि जो भरोसा दिलाया गया उसके ख़िलाफ़, पूरी बैठक का कुल माहौल कम से कम परिवार के लोगों के लिए डराने वाला था.

हालांकि परिवार के सदस्यों ने हालात का बहुत हौसले और दृढ़ता से सामना किया. बैठक के बाद मिले फीडबैक से लगता है कि जाधव बहुत तनाव में थे और ज़ोर-जबरदस्ती के बीच बोल रहे थे.

उनकी ज़्यादातर टिप्पणियां जैसे उन्हें सिखाई गई थीं और उनका मक़सद पाकिस्तान में उनके कथित गतिविधियों की झूठी कहानी को आगे बढ़ाना था.

advt

Back to top button