पाकिस्तानी प्लान, 5 हमलावर और 200 किलो विस्फोटक से पुलवामा आतंकी हमले को दिया गया अंजाम

फोन और केमिकल खरीदने के लिये आतंकी मॉड्यूल के साजिशकर्ताओं द्वारा ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्मों (E-commerce platforms) का इस्तेमाल किये जाने की भी बात कही है.

जम्मू: पुलवामा आतंकवादी हमले (Pulwama terrorist attack) की साजिश रचने और उसे अंजाम देने के मामले में मंगलवार को यहां एक विशेष अदालत में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के सरगना मसूद अजहर समेत 19 लोगों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया.

गौरतलब है कि पिछले साल दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) के काफिले पर हुए उस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे. इस मामले की जांच का नेतृत्व कर रहे एनआईए (NIA) के संयुक्त निदेशक अनिल शुक्ला ने शक्तिशाली बैटरियों, फोन और केमिकल खरीदने के लिये आतंकी मॉड्यूल के साजिशकर्ताओं द्वारा ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्मों (E-commerce platforms) का इस्तेमाल किये जाने की भी बात कही है.

अधिकारियों ने बताया कि एनआईए (NIA) इस मामले में अब तक सात लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है. आरोप पत्र में अजहर के अलावा अलग-अलग मुठभेड़ में मारे गए सात आतंकवादियों (Terrorists), चार भगोड़ों का नाम शामिल है.

इनमें से दो भगोड़े अब भी जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में छिपे हुए हैं, जिनमें एक स्थानीय निवासी और एक पाकिस्तानी नागरिक (Pakistani Citizen) शामिल है. आरोप पत्र में मसूद अजहर के दो संबंधियों अब्दुल रऊफ और अम्मार अल्वी के नाम मुख्य षड्यंत्रकारी (Conspirators) के रूप में दर्ज हैं.

मृतकों में जैश के आतंकवादी मोहम्मद उमर फारूक का करीबी संबंधी भी शामिल है, जो 2018 के अंत में सांबा जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा (international border) पर प्राकृतिक गुफाओं के जरिये भारत में दाखिल हुआ था.

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button