पाकिस्तानियों ! कैसा लगा हिंदुस्तानी जूता ?

हिंदुस्तान ही नही पूरी दुनिया के लोग पाकिस्तान के इस जूता भक्षण पर थू-थू करेंगे

पाकिस्तानियों ! कैसा लगा हिंदुस्तानी जूता ?

बेचारा पाकिस्तान… भारतीय जूता देखकर पाकिस्तानियों के मुंह में पानी आ गया. जैसे ही कुलभूषण जाधव का परिवार मुलाकात के लिए वहां पहुंचा, पाकिस्तानी अफसरों की जीभ लपलपाने लगी. मुलाकात के ठीक पहले परिवार को रोककर उनके जूते, कपड़े और पत्नी का मंगलसूत्र, बिंदी सब उतरवा ली. अफसरों को चाहिए थे जूते लेकिन सिर्फ जूते कैसे उतरवाते? कैसे जस्टिफाई करते? इसलिए सबकुछ उतरवाया. मुलाकात के बाद जूते छोड़कर सबकुछ लौटाया. उनकी नजर पहले से जूते पर ही थी. उन्हें मालूम था कि मांगने पर भी भारतीय उन्हें जूते नहीं देते क्योंकि यह भारतीयों के संस्कार में ही नहीं है.

भारतीय जूते की गंध से पाकिस्तानी अफसरों की लपलपाती जीभ वहां पहुंचे भारतीय देख चुके थे और उन्हें यह भी अंदेशा हो गया था कि हो न हो किसी तरह ये जूते के लिए कोई न कोई ऐसा काम करेंगे जो जूते खाने वाला काम कहलाएगा.

आखिर उन्होंने कर ही डाला और अब हिंदुस्तान ही नही पूरी दुनिया के लोग पाकिस्तान के इस जूता भक्षण पर थू-थू करेंगे.

जब इस जूता कांड की बात भारतीय संसद में पहुंची तो पाकिस्तान के इस कुकर्म पर कड़ा विरोध किया गया और इसे शर्मनाक कहा गया. संसद की भावना जैसे ही पाकिस्तान पहुंची तो पहले जूता-पसंद उन अफसरों को आड़े हाथों लिया गया फिर देश की नाक बचाने के लिए पाकिस्तान ने सफाई पेश की कि हमारी अफसरों को जूते में कोई संदिग्ध वस्तु होने का शक हुआ इसलिए जूते रोक लिए हैं और उन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया गया है.

कमाल है, पाकिस्तानियों की बुद्धि पर तरस आता है. अगर जूते में कुछ होता तो अभी तक बहुत कुछ हो जाता. वास्तव में, पाकिस्तानी अफसरों को भारत के अफसरों से ट्रेनिंग लेनी चाहिए. हिंदुस्तान को पाकिस्तान के खिलाफ कुछ करना होता है तो एल ओ सी लांघ कर उनकी छाती पर चढ़ जाते हैं और उन्हें दंड देकर वापस आ जाते हैं. ’टुच्चई’ करने की आदत पाकिस्तानियों की ही है तभी इन चिंदीचोर पाकिस्तानी अफसरों ने भारतीय जूते का जायका लिया है. अब पूछना पड़ेगा पाकिस्तान से कैसा लगा हिंदुस्तानी जूता?

===================================================================

पाकिस्तान द्वारा कुलभूषण जाधव के परिवार के साथ जो बर्ताव किया है, उस पर आपकी भी नसे फड़क रही हों, खून खौल रहा हो, तो अपनी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए कुछ पंक्तियां लिख डालें और कमेंट के कॉलम में पोस्ट करें सारी दुनिया इसे पढ़ेगी. हिंदी अंग्रेजी या रोमन इंग्लिश में अपनी बात पोस्ट कर सकते हैं – अपना नाम, शहर का नाम और चाहे तो फोन नंबर भी दे सकते हैं.
===============================================================

advt
Back to top button