अंतर्राष्ट्रीयबिज़नेस

पाकिस्तान की एयरलाइनों को 188 देशों में नहीं मिलेगी एंट्री

आईसीएओ द्वारा जरूरी पायलट लाइसेंसिंग और अन्य मुद्दों को पूरा करने में नाकाम

इस्लामाबाद: संयुक्त राष्ट्र के अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (आईसीएओ) द्वारा जरूरी पायलट लाइसेंसिंग और अन्य मुद्दों पर वैश्विक मानकों को पूरा करने में नाकाम रहने के कारण पाकिस्तान की एयरलाइनों को दुनिया के 188 देशों में जल्द ही प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

पाकिस्तानी अखबार ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ ने इस आशय की रिपोर्ट प्रकाशित करते हुए कहा है कि लाइसेंस घोटाले के कारण ब्रिटेन और यूरोपीय संघ के अलावा कुछ मुस्लिम देश पहले ही पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) की उड़ानों को प्रतिबंधित कर चुके हैं।

द नेशनल टाइम्स ने भी एक रिपोर्ट में कहा कि 3 नवंबर को पाकिस्तान सिविल एविएशन अथॉरिटी (पीसीएए) को आईसीएओ ने इस बाबत बाकायदा एक पत्र लिखा है। आईसीएओ ने अपने 179वें सत्र की 12वीं बैठक में अपने सदस्य देशों को अहम सुरक्षा चिंताओं से लिए एक मैकेनिज्म को मंजूरी दी थी।

इसके बाद ही उसने पीसीएए को गंभीर चेतावनी दी थी। रिपोर्ट के मुताबिक अपने पत्र में आईसीएओ ने कहा है कि पायलट लाइसेंसिंग और अन्य मामलों में वैश्विक मानक पूरा करने में नाकाम रहने के चलते पाक एयरलाइनों की उड़ानें 188 देशों में रोकी जा सकती हैं।

आईसीएओ दिशा निर्देशों के मुताबिक यदि पाक उड़ानों पर 188 देशों में प्रतिबंध लगा तो देश का उड़ान उद्योग बुरी तरह से चौपट हो जाएगा। बता दें कि कुछ माह पूर्व यह बात सामने आई थी कि पाकिस्तान के 262 पायलटों ने फर्जी कागजातों के जरिए लाइसेंस प्राप्त किया था, जिनमें से 146 पायलट सिर्फ पीआईए के हैं। जबकि आईसीएओ ने जून से इस मुद्दे को उठाया लेकिन पाक ने इसे नजरअंदाज किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button