छत्तीसगढ़

जुनवानी यानि समस्याओं की पंचायत, बीस साल पुराने भवन में चल रहे सरकार के चार विभाग

पंचायत भवन में ही नहीं है बिजली, सड़कों का बुराहाल

बिलासपुर: मस्तूरी जनपद क्षेत्र के ग्राम पंचायत जुनवानी में शासकीय भवन नहीं होने से लोग मूलभूत सुविधाओं की कमी से परेशान हैं। पंचायत से अब तक कई केवल कागजों में ही प्रस्ताव बनते रहे। 20 वर्ष पहले बनाए गए पंचायत की एक छोटे से भवन में पशु चिकित्सक विभाग, स्वास्थ्य विभाग का केंद्र जेके ट्रस्ट, उचित मूल्य की दुकान संचालित की जा रही हैं। जिससे ग्रामीणों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।पंचायत भवन में आज तक बिजली की व्यवस्था नहीं हो पाई है। ग्राम पंचायत भवन में आम जनता अपनी समस्या लेकर जब पहुंचते हैं तो उन्हें वहां पीने का पानी तक नसीब नहीं होता। भवन में भी बिजली पंखा नहीं है।

तालाब सूखा, सात हजार की आबादी के सामने निस्तारी की समस्या

बता दें कि जुनवानी पंचायत की आबादी करीब 7 हजार से ज्यादा है। जो 12 अलग-अलग वार्डों में निसास करती है। ग्राम पंचायत के लोगों को आज भी बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा स्वास्थ्य आदि की समस्या बरकरार है। यहां से गुजरने वाली सड़कों की हालत तो और भी खराब है। जुनवानी से बिनौरी सड़क आज तक नहीं बन पाई और आज गांववासी आधारभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं। सड़क, विद्युत, पेयजल, साफ-सफाई के अभाव में लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

शर्मसार हो रही महिलाएं, अधूरे पड़े हैं शौचालय

कई मोहल्लों की महिलाएं खुले में शौच करने को मजबूर हैं। अभी भी वहाँ शौचालय अधूरे पड़े हुए हैं। जगह-जगह गंदगी के ढेर लगे हैं। जुनवानी में अप्रैल माह से ही जनता पानी के लिए तरस रही है। गांव का तालाब सूख चुका है। सात हजार की आबादी वाले गांव में पेय जल के लिए पाइप लाइन आज तक नहीं बिछाई जा सकी है। भीषण गर्मी में जलापूर्ति नहीं होने से लोग परेशान होते हैं। मोहल्लों में पानी निकासी की व्यवस्था नहीं होने से गंदा पानी सड़कों पर फैल रहा है।
मोहल्लावासियों का जीना दूभर हो गया है। महिलाओं द्वारा खुले में शौच के मुद्दे वास्तव में स्थिति गंभीर बनी हुई है। वही बन रहे प्रधानमंत्री आवास योजना में भी पलीता लगाया जा रहा है इस गांव रहने वाले ग्रामीण मनीराम टंडन सूखचन्द जसवंत टण्डन श्यामा बाई सहोद्रा बाई ने बताया कि आज तक पंचायत की अनदेखी से गांव में विकास नहीं हो पा रहा है। ग्रामीणों की समस्याओं की सुनवाई भी नहीं होती।

हम सिर्फ कागजों में ही प्रस्ताव बना कर दे सकते हैं, उस प्रस्ताव को जनपद और जिला पंचायत से मंजूरी मिलती है।जुनवानी पंचायत में भवन का आभाव है। जिसके लिए मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय तक पत्र भेजा जा चुका है। पांच सड़कों की मंजूरी मिली है लेकिन कार्य आदेश अब तक नहीं दिया गया है।
– शिवसहाय यादव ,सरपंच ग्राम पंचायत जुनवानी।

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *