पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर ने की 1.25 करोड़ के 39 विकास कार्यों का किया लोकार्पण और शिलान्यास

धमतरी जिला पंचायत के अध्यक्ष रघुनंदन साहू, कुरूद जनपद पंचायत की अध्यक्ष मती पूर्णिमा साहू, उपाध्यक्ष छत्रपाल बैस, जिला पंचायत सदस्य मती बबीता जैन भी उपस्थित

रायपुर: पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री अजय चंद्राकर ने कुरूद विकासखण्ड के ग्राम तर्रागोंदी, टिपानी, भेलवाकुदा और पचपेड़ी का सघन दौरा किया और ग्रामीणों से मुलाकात की. चन्द्राकर इस दौरान एक करोड़ 25 लाख रूपए के 39 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया. जिसमें ग्राम पचपेड़ी में लिए एक करोड़ 13 लाख 32 हजार रूपए के 35 कार्य और ग्राम टिपानी में 11 लाख 70 हजार रूपए के दो कार्य, साढ़े छह लाख रूपए से निर्मित शीतला सामुदायिक भवन और 5.20 लाख रूपए की लागत से निर्मित सीसी रोड निर्माण शमिल है. चन्द्राकर ने कल इस मौके पर ग्राम पचपेड़ी में महात्मा गांधी और पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का अनावरण भी किया. कार्यक्रम में धमतरी जिला पंचायत के अध्यक्ष रघुनंदन साहू, कुरूद जनपद पंचायत की अध्यक्ष मती पूर्णिमा साहू, उपाध्यक्ष छत्रपाल बैस, जिला पंचायत सदस्य मती बबीता जैन भी उपस्थित थी.

चंद्राकर ने लोकार्पण एवं शिलान्यास कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज के दौर में विकास की परिभाषा बदल चुकी है. भवन, सड़क, अहाता, सीसी रोड निर्माण जैसे कार्य सुविधाएं हैं जो आमजनता को सहुलियतें देती हैं, लेकिन वास्तविक विकास तो वह है जिसके कारण लोगों की जीवनचर्या में सकारात्मक परिवर्तन और सोच पैदा होते हो. उन्होंने कहा कि वह समाज सर्वश्रेष्ठ है जो व्यक्तिगत लाभ और निजी हितों से उपर उठकर सभी लोगों की उन्नति के लिए आगे आते है. सभी तरह के कार्य के लिए शासन-प्रशासन पर निर्भर रहने के बजाय किसी विशेष लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सामूहिक प्रयास और नवाचार की दिशा में काम करना चाहिए. जनहित के लिए राज्य सरकार द्वारा हर तरह की योजनाएं संचालित की जा रही हैं लेकिन समुचित जानकारी के अभाव में लोग लोग उनका लाभ नहीं ले पा रहे है.

चन्द्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में भुखमरी, पलायन जैसी समस्या प्रदेश में नहीं है. उन्हांेने ग्रामीणों को ग्राम पंचायत एवं ग्रामसभाओं से जुड़कर योजनाओं की जानकारी लेने तथा कम से कम खुद के गांव में संचालित सरकारी संस्थाओं का निरीक्षण करने और क्रियाकलाप से अवगत होने की अपील की. ग्राम के युवा बेरोजगारों को कौशल विकास से जुड़ने, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत ऋण लेकर व्यवसाय स्थापित करने, कृषि, उद्यानिकी विभाग में संचालित योजनाओं के अंतर्गत अनुदान पर कृषि उपकरण प्राप्त करने सहित विभिन्न विभागों के अंतर्गत योजनाओं का समुचित लाभ लेने के लिए ग्रामीणों से आव्हान किया.

Back to top button