पंडवानी गायिका डॉ. तीजन बाई पद्म विभूषण और अनूप रंजन पाण्डेय पद्मश्री अंलकरणों से हुए सम्मानित

रायपुर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज राष्ट्रपति भवन में आयेजित समारोह में छत्तीसगढ़ की प्रसिद्ध पंडवानी गायिका डॉ. तीजन बाई को पद्म विभूषण और बस्तर बैण्ड के श्री अनूप रंजन पाण्डेय को पदमश्री अलंकरण से सम्मानित किया।

उल्लेखनीय है कि महाभारत की कथा को सहज-सरल छत्तीसगढ़ी भाषा में पंडवानी गायन के माध्यम से दुनिया के सामने लाने वाली डॉ. तीजन बाई को इसके पूर्व वर्ष 1998 में पद्मश्री, 2003 में पद्म भूषण पुरस्कार से भी सम्मानित किया जा चुका है। डॉ. तीजन बाई ने 13 साल की उम्र से पंडवानी गायन शुरू किया।

अनूप रंजन पाण्डेय ने अपनी संस्था बस्तर बैण्ड के माध्यम से छत्तीसगढ़ के बस्तर अंचल की कला संस्कृति को संरक्षित करने का सराहनीय कार्य किया। उल्लेखनीय है कि गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर इन पुरस्कारों की घोषणा की गई थी।

Back to top button