पाण्डुका: सरकारी स्कूल के दो छात्राओं का चयन दिल्ली में

हितेश दीक्षित

छुरा/गरियाबंद।

वैसे तो सरकारी स्कूल के प्रति लोगों की सोच है वह हमेशा नकारात्मक रहती है। और पढ़ाई लिखाई को लेकर हमेशा कुछ न कुछ कोई बातें होती रहती है पर ऐसे में इन्ही सरकारी स्कूल के दो छात्राओं का चयन दिल्ली में होना बहुत गर्व की बात है।

भारत सरकार द्वारा संचालित संस्था के द्वारा बाल वैज्ञानिक खोज के तहत सरकारी एवं गैर सरकारी में
पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं के द्वारा अविष्कार एवं जिज्ञासा को ढुंढने का कार्य यह संस्था करती है।

जिसके तहत अनुदान राशि दी जाती है, जिसमें ब्लॉक स्तर, जिला स्तर, संभाग एवं राज्य स्तर के बाद राष्ट्रीय स्तर में जिले के दो होनहार छात्राओं का चयन हुआ है। जिसमें चतुर्भुज सिरकट्टी आश्रम में अध्यनरत छात्र केशव कुमार साहू पिता जितेन्द्र साहू कुरूद का चयन दिल्ली में हुआ है, जिसमें इंस्पायर अवार्ड मानक के लिए इन छात्राओं का चयन किया गया है।

इनकी उपलब्धी यह है कि अपने मॉडल में हेलमेट विथ लॉकर सिस्टम बनाया जिसमें आजकाल प्रत्येक व्यक्ति के पास मोटरसाइकल की सुविधा है परंतु हेलमेट का इस्तेमाल वह करना तो चाहता है और चलाते समय इसका इस्तेमाल करता है पर हेलमेट को अपने साथ हर जगह नहीं ले जाने के कारण असुविधा होती है।

इस वजह से कई चालक अपने साथ हेलमेट नहीं ले जाते क्योंकि उसे मोटरसाइकल में रखने से चोरी का भय यह फिर असुविधा होती है ऐसे में केशव कुमार ने हेलमेट में लॉकर सिस्टम लगाकर मॉडल तैयार किया जिसमें लोग अपने मोटरसाइकल के साथ हेलमेट रख सकता है।

आजकल दुर्घटनाएं आम बात हो गई है और अधिकतर लोग बिना हेलमेट के अपनी जान गंवा रही है और ऐसे में लाभकारी साबित होगा।

इस आर्वाड के लिए संभाग स्तर का चयन शिवसिंह वर्मा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय धमतरी
में चयन किया गया।

इसके बाद राज्य स्तरीय आयोजन खालसा पब्लिक स्कूल दुर्ग में किया गया जिसमें राष्ट्रीय स्तर के लिए छत्तीसगढ़ में कुल 12 बाल वैज्ञानिक के रूप में चयन हुआ है।

जिसमें जिले के दोनो छात्रो का चयन किया गया है इसी तरह हाई स्कुल जरगांव में पढ़ने वाले लोकचंद सिन्हा पिता जानु राम सिन्हा दसवीं का छात्र का चयन ट्रेक्टर में कैचव्हील से मताई और जोताई कर जब खेत से निकलते है तो सड़क में मिट्टी फैल जाती है।

जिससे सड़क में गंदगी तो होता है और मिट्टी होने के वजह से दुर्घटना का भी आशंका बना रहता है, इस तरह इस समस्या से निजात के लिए ट्रेक्टर में पंप उपकरण का निर्माण किया गया है जिससे जोताई-मताई कर निकलते उसे खेत में ही पानी से धुलाई किया जा सकता है। जिससे सड़क में गंदगी नहीं फैलेगा और दुर्घटना भी नहीं होगा।

इस तरह दोनों छात्र गरियाबंद जिले के विकासखंड छुरा के हाईस्कूल के छात्र है जो अपनी मेहनत और लगन से अपने मार्गदर्शक शिक्षक हरिश कुमार कश्यप सिरकट्टी आश्रम कुटेना एवं जरगांव में प्रदीप पाण्डेय
शिक्षक के द्वारा सही मार्गदर्शक पर जिले सहित ब्लॉक गौरवान्वित महसुस कर रहा है।

Back to top button