पंत और जड़ेजा ने मिल कर तोड़ डाला ये 35 साल पुराना रिकॉर्ड

भारतीय टीम ने पहली पारी में सात विकेट पर 622 रन बनाए और पारी की घोषणा कर दी।

सिडनी टेस्ट में अपने जोरदार प्रदर्शन से ऑस्ट्रेलिया टीम पर दबाव बनाने वाली भारतीय टीम के खिलाड़ी कई रिकॉर्ड भी अपने नाम कर रहे हैं।

35 साल पुराने एक ऐसे ही रिकॉर्ड को रिषभ पंत और रवींद्र जडेजा ने मिलकर तोड़ दिया।

भारतीय टीम ने पहली पारी में सात विकेट पर 622 रन बनाए और पारी की घोषणा कर दी।

इस स्कोर तक पहुंचने में पुजारा और रिषभ पंत का अहम योगदान रहा, लेकिन पंत ने सातवें विकेट के लिए जडेजा के साथ जो साझेदारी की थी वो बेजोड़ थी।

चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन इन दोनों खिलाड़ियों ने पहली पारी में सातवें विकेट के लिए 204 रनों की दोहरी शतकीय साझेदारी की।

इस साझेदारी के दम पर भारत और मजबूत स्थिति में तो आया ही साथ ही साथ इन दोनों ने इस साझेदारी के बाद ऑस्ट्रेलिया में बने एक 35 वर्ष पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट क्रिकेट में सातवें विकेट के लिए ये अब तक की सबसे बड़ी साझेदारी थी।

पंत व जडेजा से पहले वर्ष 1983 यानी 35 वर्ष पहले ग्रेग मैथ्यूज और ग्राहम यालोप ने ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलते हुए मेलबर्न में सातवें विकेट के लिए 185 रन की साझेदारी थी।

इस दोनों की साझेदारी को अब जाकर भारतीय बल्लेबाजों ने तोड़ा और एक नया रिकॉर्ड कायम किया। पंत व जडेजा की इस साझेदारी को स्पिनर नाथन लियोन ने तोड़ा।

उन्होंने जडेजा को क्लीन बोल्ड कर दिया जिन्होंने 114 गेंदों का सामना करते हुए 81 रन बनाए थे। जडेजा ने अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया।

 

advt
Back to top button