जल्द ही ब्रिटेन बाजारों में उतरेंगे भारत द्वारा भेजे गए पैरासिटामोल

भारत ने फंसे कई ब्रिटिश नागरिकों की वापसी की व्यवस्था की

नई दिल्ली: भारत ने यहां फंसे कई ब्रिटिश नागरिकों की वापसी की व्यवस्था की है. ब्रिटेन सरकार द्वारा चलाए गए चार्टर उड़ानों के जरिए अब तक 3,700 से ज्यादा ब्रिटिश नागरिक ब्रिटेन वापस पहुंच चुके हैं. शुक्रवार को घोषित चार्टर उड़ानों के तीसरे दौर के अंत में, यूके ने 9,000 से अधिक लोगों को ब्रिटेन लौटने में मदद की.

साथ ही भारत COVID-19 से निपटने के लिए कई देशों को दवाइयां भेज रहा है. जिसमें पैरासिटामोल भी है, जो जल्द ही ब्रिटेन बाजारों में उतरेंगे. इससे पहले भारत ने कई देशों को हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन दवा भी भेजी है, जिसे वर्तमान परिस्थितियों में गेम-चेंजर दवा कहा जा रहा है.

ब्रिटिश उच्चायोग के एक प्रवक्ता का कहना है, “हम भारत सरकार को यूके में पेरासिटामोल के 2.8 मिलियन पैकेट के निर्यात को मंजूरी देने के लिए धन्यवाद करते हैं. यह दवा यूके के अग्रणी सुपरमार्केट और खुदरा विक्रेताओं को वितरित की जाएगी.”

उन्होंने ये भी कहा, “दशकों में हम कोरोना वायरस जैसे सबसे बड़े खतरे का सामना कर रहे हैं, इसलिए यह जरूरी है कि हम वैश्विक व्यापार को जारी रखने और आपूर्ति पूरी करने के लिए एक साथ काम करें. कोरोना वायरस को हराने के लिए हम भारत और अन्य देशों के साथ काम करना जारी रखेंगे.”

ब्रिटिश उच्चायोग के प्रवक्ता ने कहा, “हम भारत की उन जगहों से और भी उड़ानों की व्यवस्था करना चाहते हैं जहां हम जानते हैं कि बड़ी संख्या में ब्रिटिश नागरिक अभी भी फंसे हुए हैं.”

Tags
Back to top button