Parents की इन गलतियों के कारण बिगड़ते हैं बच्चे !

हर मां-बाप का फर्ज होता है कि वे अपने बच्चों को अच्छी परवरिश दें। इसी से बच्चों का विकास होता है और उन्हें सही मंजिल पर पहुंचने में मदद मिलती है।

बच्चों के खान-पान से लेकर रहन-सहन तक सब की जिम्मेदारी ‘पेरेंट्स’ पर ही होती है लेकिन कई बार छोटी-मोटी बातों की वजह से बच्चों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है

जिससे बच्चे बड़े होकर या तो डरपोक बनते हैं या उन्हें किसी का डर नहीं रहता। ऐसे में ‘पेरेंट्स’ को कुछ खास बातों का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

बच्चों का डांटना

कुछ ‘पेरेंट्स’ ऐसे होते हैं जो अपने बच्चों पर पढ़ाई और खेल-कूद के लिए काफी ‘प्रैशर’ बनाते हैं।

अगर बच्चा पढ़ाई में अच्छे नंबर नहीं लाता तो मां-बाप उसे मारते या डांट लगाते हैं जिससे बच्चे के अंदर डर बैठ जाता है और वे अपना आत्म-विश्वास खो बैठते हैं।

हर बात पर शिकायत

बच्चे अक्सर शरारतें करते रहते हैं तो ऐसे में अगर मां उसकी छोटी- मोटी बात पर पापा या उसकी ‘टीचर’ से शिकायत करे तो बच्चे डरने लगते हैं।

हर बार ऐसे ही शिकायत करने पर कई बार को बच्चों के मन से डर भी दूर हो जाता है और वे झगड़ालू और जिद्दी बन जाते हैं।

तुलना करना

कई ‘पेरेंट्स’ को आदत होती है कि वे अपने बच्चों को सिखाने के लिए दूसरे बच्चों से उनकी तुलना करते हैं जिससे उनके के मन में भेदभाद की भावना पैदा हो जाती है।

बच्चों की ‘डाइट’

बच्चों के खान-पान की आदतों पर भी ज्यादा सवाल-जवाब करने से वे जिद्दी हो जाते हैं और कई बार तो बच्चे खाना-पीना भी छोड़ देते हैं।

ऐसे में ‘पेरेंट्स’ को चाहिए कि बच्चों को हर बात पर टोकने की जगह उन्हें ‘हैल्दी’ खाने की सलाह दें।

Back to top button