यात्रियों को अब नहीं मिलेगा चाय के साथ बिस्किट और खाने के पहले सूप

-आईआरसीटीसी का फैसला, चाय या सूप में से एक का आप्शन बताना होगा

रायपुर/भोपाल।

रेलवे की सहयोग संस्था आईआरसीटीसी ने एक बड़ा निर्णय लिया है। आगामी 15-16 जुलाई से देश की 26 यात्री ट्रेनों में खाने की मात्रा को कम किया जा रहा है।

यात्रियों को चाय या सूप में से एक का चयन करना होगा। बिस्किट जो मिलते थे, वे बंद हो जाएंगे। रेलवे दूरंतो, राजधानी एक्सप्रेस, अगस्त क्रांति सहित शताब्दी स्तर की ट्रेन में इस निर्णय को लागू करने जा रही है। जिन ट्रेनें में इसे लागू करने की योजना है उनमें नई दिल्ली शताब्दी, नई दिल्ली से बिलासपुर, सिकंदराबाद, चैन्नई, बैंगलुरू राजधानी एवं दुरंतो ट्रेनें शामिल हैं।

आईआरसीटीसी की माने तो राजधानी, दूरंतो व शताब्दी ट्रेन में यात्री के बैठते ही चाय या काफी दी जाती है। इसके बाद भोजन के पहले सूप दिया जाता है। अब नए निर्णय के अनुसार अब यात्री को सूप या चाय में से एक का चयन करना होगा। यदि यात्री चाय पसंद करेगा तो उसको भोजन से पहले सूप नहीं मिलेगा। यदि यात्री को फिर भी यह लेना है तो इसके लिए जेब ढीली करना पड़ेगी। इसी तरह सूप लेने वाले यात्री को बिस्किट भी नहीं दिए जाएंगे।

-कांबो मील नहीं देंगे

आईआरसीटीसी के अधिकारी के अनुसार रेलवे ने सर्वे किया था। इसमें पाया था कि यात्री नियमित भोजन तो पसंद करते हैं, लेकिन कांबो मील पसंद नहीं करते हैं। ऐसे में ये निर्णय हुआ है कि राजधानी ट्रेन व अगस्त क्रांति ट्रेन में कांबो मील नहीं दिया जाएगा। इन ट्रेन में यात्रियों को नियमित भोजन दिया जाएगा।

-सब्जियों का वजन भी कम होगा

इसके साथ ही रेलवे भोजन की मात्रा को कम करेगा। अब तक जो दाल या सब्जी 150 ग्राम मिलती थी, वो कम होकर 120 ग्राम की हो जाएगी। 100 ग्राम के वजन वाले पराठे 70 ग्राम तक के हो जाएंगे।

Back to top button