पटना हाईकोर्ट ने बीएसईबी पर लगाया पांच लाख रुपये का जुर्माना

दो हफ्ते के भीतर परीक्षा परिणाम को संशोधित करने के निर्देश

पटना : 2017 की मैट्रिक परीक्षा में दूसरे टॉपर भव्या कुमारी को हिंदी की आंसर शीट का सही ढंग से चेक नहीं करने पर उनकी याचिका पर फैसला सुनाते हुए पटना हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति सी एस सिंह ने बीएसईबी पर पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया है.

भव्या कुमारी की याचिका पर फैसला सुनाते हुए जस्टिस सी एस सिंह ने बीएसईबी पर पांच लाख रुपये का दंड लगाया और दो हफ्ते के भीतर परीक्षा परिणाम को संशोधित कर पब्लिश करने का निर्देश दिया.

ये राशि जमुई सिमुलतला आवासीय विद्यालय के प्रिंसिपल को दी जाएगी जो इस राशि का उपयोग विद्यालय के विकास में करेंगे. याचिका में भव्या ने कहा था कि हिंदी में कम अंक दिए गए जिस कारण वह उस परीक्षा में टॉप नहीं कर पायी.

Back to top button