छत्तीसगढ़

कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं पवन केशरवानी

कांग्रेस में जाने की संभावना से इनकार नहीं कर सकता

गौरेला पेंड्रा मरवाही :- भाजपा ने जब से गौरेला पेंड्रा मरवाही जिला की कार्यकारिणी घोषित की है तब से ही लग रहा है कि भाजपा के दिन अच्छे नही चल रहे हैं जिले में कुल दो नगर पंचायत है जिसमें दोनों ही नगर पंचायतों में भाजपा का कब्जा था लेकिन जब से प्रदेश अध्यक्ष द्वारा जिले की कार्यकारिणी का गठन किया है तब से जिले में भाजपा के अच्छे दिन नहीं चल रहे है एक तरफ जहां नगर पंचायत अध्यक्ष व 3 पार्षदों ने पार्टी से इस्तीफा देकर कांग्रेस का दामन थाम लिया है वही दूसरी तरफ पार्टी भाजयुमो नेता पवन केशरवानी को अब तक पार्टी संतुष्ट नहीं कर सकी है सिवनी के भी सक्रिय कार्यकर्ता दीपक शर्मा ने भी पार्टी से नाराज होकर इस्तीफा दे दिए हैं ,,

जब हमने पवन केशरवानी से बात की तो बातचीत में पवन केशरवांनी ने बताया कि पार्टी ने लगातार मेरी उपेक्षा की है जबकि मैंने अपना 20 साल पार्टी को दिया है केशरवानी समाज से भाजपा ने ना ही 1 पार्षद की टिकट दी और न ही संगठन में स्थान दिया जबकि यह गौरेला पेंड्रा मरवाही जिले का एक बड़ा समाज है, छत्तीसगढ़ से युवा मोर्चा में प्रदेश कार्यसमिति में होने के बावजूद भी बिलासपुर के नेताओ द्वारा 4 साल तक बैठकों में ना बुलाकर अपमान करना , बल्कि अन्य पार्टी से आये व्यक्ति को पार्टी में टिकट व जिले में पद देकर समर्पित कार्यकर्ताओ की उपेक्षा करना यही छत्तीसगढ़ भाजपा की कार्यशैली बन गई है जिससे 14 सीट पर पार्टी सिमट गई है ,

कांग्रेस में जाने के सवाल पर श्री केशरवांनी ने कहा कि जब से भुपेश बघेल जी ने गौरेला पेंड्रा मरवाही को जिला बनाया है कांग्रेस के नेताओ व कार्यकर्ताओं को सम्मान की नजर से देखा जाता है क्षेत्रहित को देखते हुए मैं कांग्रेस में जाने की संभावना से इनकार नहीं कर सकता ,,

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button