रेप के फरार आरोपी शिक्षक को बीईओ ने किया ढ़ाई लाख रुपए का भुगतान

अनुराग सिंह

बेमेतराः बलात्कार के आरोप में पिछले एक साल से फरार आरोपी शिक्षक को लगातार वेतन का भुगतान किए जाने का मामला सामने आया है, जिस फरार शिक्षक का पिछले एक साल से पुलिस सुराग तक नहीं लगा सकी, उसी शिक्षक को शिक्षा विभाग की ओर से बिना किसी देरी के लगातार वेतन का भुगतान किया जाता रहा है.

मामले की जानकारी होने के बाद जब इस बारे में शिक्षा विभाग के अधिकारियों से जानने की कोशिश की गई तो वे भागते नजर आए. मामला जिले के नवागढ़ ब्लाक के मुरकुटा मीडिल स्कूल का है, जहां मीडिल स्कूल के प्रधान पाठक सुगन चंद जोशी पर एक महिला ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था.

पीडिता महिला ने इस मामले की शिकायत 15 मई 2017 नवागढ़ थाना में की थी, जिसके बाद पुलिस ने आरोपी शिक्षक के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी , उस समय से आरोपी शिक्षक सुगन फरार था। लेकिन इसी बीच 6 दिसंबर 2017 को बीईओ जीआर चतुर्वेदी ने आरोपी शिक्षक सुगम को जाइनिंग दे दी.

बीईओ ने इस बात की जानकारी पुलिस से भी छुपाई, साथ ही फरारी के दौरान लिए अवकाश को फर्जी तरीके से पारिवारिक कारणों से ली छुट्टी दिखते हुए बीईओ ने अर्जित अवकाश घोषित किया, इतना ही नहीं इस दौरान बीईओ ने उसके वेतन के करीब ढ़ाई लाख रुपए का भी भुगतान कर दिया.

Back to top button