पेंड्रा : पीड़ित का रिश्तेदार निकला चोर ,पढ़िए पूरी खबर…

लालच में आकर चोरी की वारदात को दिया था अंजाम, नगदी और जेवर जब्त

पेंड्रा: पेंड्रा में लगातार हो रही चोरी के मामले में पुलिस को सफलता हाथ लगी है. मरवाही थाने के अंतर्गत राजेश गुप्ता के यहां बीते महीने हुई चोरी के मामले में मरवाही पुलिस ने कार्रवाई की है. पुलिस ने वारदात में शामिल तीन आरोपियों सहित चोरी किए गए आभूषण और कैश बरामद किया है. चोरी का मुख्य आरोपी पीड़ित का रिश्तेदार है. दरअसल, पेंड्रा और उसके आसपास के इलाके में पिछले काफी दिनों से चोरी की वारदातें सामने आ रही थी. इसी बीच मरवाही थाने के सिवनी ग्राम में अशोक गुप्ता के घर चोरी हुई थी. पुलिस ने चोरी के तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही उनकी निशानदेही पर व्यापारी के घर से चोरी हुए सोने-चांदी की जेवर समेत कैश बरामद कर लिया गया है.

पुलिस के अनुसार चोरी का मास्टरमाइंड शिवम गुप्ता उर्फ रस्सू गल्ला व्यवसाई अशोक गुप्ता का रिश्तेदार है. उसे अशोक गुप्ता के शादी में जाने की खबर थी. व्यापार के दौरान शिवम गुप्ता को उसके घर में कहां पैसा रखा है. कहां पर आभूषण है. इसकी पूरी जानकारी थी. शिवम ने चौकीदार से फोन करके अशोक गुप्ता के वापस आने के बारे में पूछा, तब चौकीदार ने बताया कि वह कल आएंगे. रात में ही शिवम ने अपने दो और साथी राजकुमार दुबे और नीरज द्विवेदी के साथ मिलकर चोरी की योजना बना ली. राजकुमार और शिवम अशोक गुप्ता के घर में घुसे, जबकि नीरज बाहर खड़े होकर आने जाने वाले लोगों पर नजर रख रहा था.

चोरी की रकम से मिले रकम में से शिवम ने नीरज और राजकुमार को 1- 1 लाख दिया था, जबकि खुद नगदी और आभूषण रख लिया. शक के आधार पर पुलिस ज्वेलरी दुकानों में मुखबिर लगाकर नजर रखी हुई थी, तभी शिवम संदिग्ध रूप से चोरी का आभूषण बेचने की फिराक में घूम रहा था. शक के आधार पर पुलिस ने शिवम को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की, तो उसकी निशानदेही पर पेड़ के नीचे दबा कर रखे हुए सोने के आभूषण और कुछ नगदी रकम बरामद हुए. दो अन्य आरोपियों से भी पंद्रह हजार रुपये बरामद हुए. इस प्रकार पुलिस को 400000 के आभूषण और 80000 नगद मिले, जबकि आरोपियों से शेष 320000 की बरामदगी नहीं हो पाई है. पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button