बड़ी खबरराजनीतिराज्यराष्ट्रीय

कांग्रेस के कलह की कीमत चुका रही जनता -वसुंधरा राजे

वसुंधरा राजे की राजस्‍थान के सियासी घमासान पर पहली प्रतिक्रिया

जयपुर : राजस्थान की पूर्व मुख्‍यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया ने राजस्‍थान की मौजूदा राजनीति स्थिति का दुर्भाग्‍यपूर्ण करार दिया है। प्रदेश के सियासी घमासान पर चुप्पी तोड़ते हुए वसुधरा राजे ने कहा कि कांग्रेस पार्टी द्वारा भाजपा नेताओं पर विधायकों की खरीद-फरोख्त के आरोप लगाना दुर्भाग्‍यपूर्ण हैं। कांग्रेस को अपने घर की लड़ाई में भाजपा नेताओं को नहीं घसीटना चाहिए।

वसुंधरा राजे ने ट्विटर कर कहा, ‘यह दु्भाग्यपू्र्ण हैं कि राजस्थान की जनता को कांग्रेस की अंदरुनी कलह की कीमत चुकानी पड़ रही है। कांग्रेस अपनी अंदरुनी कलह का ठीकरा भाजपा पर फोड़ने की कोशिश कर रही है।’ बता दें कि राजस्‍थान के सियासी घमासन के बीच वसुंधरा राजे का यह पहला बयान है।

हालांकि, वसुंधरा राजे यहीं नहीं रुकी, उन्‍होंने अशोक गहलोत को उनकी एक-एक करके जिम्‍मेदारियां भी गिनावा दीं। उन्‍होंने ट्वीट में लिखा, ‘ऐसे समय में जब राज्य में कोरोनावायरस के चलते 500 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और इस संक्रमण के कारण बीमार लोगों की संख्या 28500 के पार पहुंच गई है।

भाजपा नेताओं पर कीचड़ उछालने का कोई मतलब नहीं

ऐसे समय में जब किसानों की खेती पर टिड्डियों की हमला हो रहा है। ऐसे समय में जब राज्य में महिलाओं के खिलाफ अत्याचार चरम पर है। ऐसे समय में जब राज्य में बिजली का भीषण संकट देखने को मिल रहा है। अभी तो मैंने कुछ ही समस्याओं को गिनाए हैं जिनका राजस्थान की जनता सामना कर रही है। इसमें भाजपा को बीच में खींचना और भाजपा नेताओं पर कीचड़ उछालने का कोई मतलब नहीं है।

उन्‍होंने लिखा, ‘किसी भी प्रदेश की सरकार के लिए सिर्फ और सिर्फ जनता की समस्‍याएं और हित ही सर्वोपरि होने चाहिए। कभी तो जनता के बारे में सोचिए।’

वसुंधरा राजे के इस ट्वीट को राजस्थान भाजपा के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है, क्‍योंकि उनकी चुप्पी और भाजपा की बैठकों में शामिल नहीं होने के बारे में उठ रहे सवालों पर भाजपा नेताओं की ओर से कोई पुख्ता जवाब नहीं आ रहा था। उधर, एनडीए के घटक दल राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सांसद हनुमान बेनीवाल राजे पर कांग्रेस सरकार की मदद करने का आरोप लगा रहे थे।

पूर्व विधानसभा अध्यक्ष के कुछ अलग सुर

इस बीच भाजपा के मौजूदा विधायक और राजस्थान विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष कैलाश मेघवाल के कुछ अलग सुर सामने आए हैं। एक बयान में उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टी के साथ मिल कर सरकार गिराने की साजिश जैसी आज हो रही है, वैसी पहले कभी नहीं हुई। बयान में उन्होंने कहा कि जिस प्रकार का माहौल सरकार गिराने को लेकर आज बना हुआ है, हॉर्स ट्रेडिंग हो रही है, आरोप प्रत्यारोप लग रहे है, यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कांग्रेस के बागी विधायक भंवरलाल शर्मा पर भी आरोप लगाए और कहा कि वे पहले भी ऐसे प्रयास कर चुके है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button