छत्तीसगढ़

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले के नवागांव में जर्जर सड़क से लोगों की बढ़ी मुश्किलें, शिकायत के बाद भी राहत नहीं

ब्यूरो चीफ:- विपुल मिश्रा

बिलासपुर: नवागांव में जर्जर सड़क से लोगों की मुश्किलें बढ़ गई है। वहीं आधे अधूरी बाइपास से ग्रामीण परेशान हो रहे हैं। धूल और डस्ट से ग्रामीण बीमार हो रहे हैं। इस संबंध में इसकी शिकायत अधिकारियों से की गई है कि इसके बाद भी कार्रवाई नहीं की जा रही है।

जिला गौरेला-पेंड्रा-मरवाही को जिला बने एक वर्ष पूर्ण होने जा रहा है। वहीं क्षेत्रवासियों के द्वारा विगत कई वर्र्षों से बिलासपुर से मनेंद्रगढ़ जाने के लिए बसंतपुर से नवागांव, झाबर, बारी उमराव होते हुए मरवाही मुख्य मार्ग को जोड़ने वाली बीच की लगभग छह किलोमीटर सड़क की हालत जर्जर है। मनेंद्रगढ़ से मरवाही होते हुए बिलासपुर जाने वाले ज्यादातर वाहन इसी मार्गों से होकर गुजरते हैं।

मुख्य मार्ग में रहने वाले इससे सबसे अधिक प्रभावित हैं। इसमें नवागांव, झाबर के लोग इस आधी-अधूरी सड़क निर्माण से परेशान हैं। हालत यह है कि सड़क की दोनों ओर के दुकानदार और रहवासी आम नागरिक धूल से परेशान हैं। मुख्य सड़क के किनारे रहने वाले बीमार पड़ रहे हैं।

वहीं धूल के उड़ने से किसी गाड़ियों की निकलने से दुर्घटना की संभावना रहती है। छोटे वाहनों के चालकों को दुर्घटना का डर हमेशा बना रहता है। ग्रामीणोें ने बताया कि इसकी शिकायत पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों से की है इसके बाद भी इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं हो रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button