छत्तीसगढ़

कुल देवी की मूर्ति तोड़े जाने नाराज़ गोंडवाना समाज के लोगों ने किया एसडीएम कार्यालय का घेराव

डोंगरगढ के नगर पंचायत अध्यक्ष ने बताया कि इस तरह का अशोभनीय कार्य धर्मनगरी में पहली बार हुआ है

15 दिन पहले कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा डोंगरगढ़ पहाडी मे स्थित गोंडवाना समाज के कुल देवी देवताओं की मूर्ति को क्षति पंहुचाने के विरोध में आज एक आक्रोश रैली निकली गई. इस रैली में करीब 6 राज्यों के 15 हज़ार लोगों ने हिस्सा लिया और एसडीएम को आरोपियो के खिलाफ कडी कार्यवाही करने का ज्ञापन सौंपा.

बता दें कि कुछ समय पहले ही समाज के कुछ लोगों द्वारा मूर्ति को क्षति पहुँचाने के बारे में प्रशन को अवगत कराया गया था. पर बार-बार असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़-फोड़ करने से क्षुब्ध होकर आज समाज के लोगों ने मिलकर एसडीएम ऑफिस का घेराव किया.

इस रैली में आदिवासी समाज के महाराष्ट्र , बिहार, मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ सहित 6 राज्यो के 15 हजार से अधिक महिला एवं पुरुष शामिल हुए और उन्होंने ज्ञापन देकर आरोपियों को जल्द पकड़ने की मांग की. इस दौरान सर्व आदिवासी सम्मेलन में पूर्व सांसद सोहन पोटाई सहित समाज के पदाधिकारियों ने प्रशासन को चेतावनी दी है कि यदि जल्द ही आरोपियों कि गिरफ्तारी नही की गई तो वे आगे और भी उग्र आन्दोलन करेंगे.

डोंगरगढ के नगर पंचायत अध्यक्ष ने बताया कि इस तरह का अशोभनीय कार्य धर्मनगरी में पहली बार हुआ है. बार-बार प्रशन को अवगत कराने के बावजूद अभी तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है. जिसके कारण आदिवासी समाज मे काफी आक्रोश है. और यही कारण है गोंडवाना समाज के लोगो ने आक्रोश रैली निकालकर प्रशासन के खिलाफ अपना विरोध प्रदर्शन किया है.

इस सर्व समाज के आक्रोश रैली के दौरान किसी तरह से माहौल खराब ना हो इसको लेकर पुलिस प्रशासन ने तकड़ी व्यावस्था कर रखी थी. वही इस मामले को लेकर एसडीएम प्रेमलता चंदेल ने समाज के लोगों को आश्वस्त करते हुए मूर्ति के तोड फोड करने वाले आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने का आश्वासन दिया है.

Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *