राजधानी में आज से मोहल्लों की किराना दुकानों को खोलने की अनुमति

शहर में 26 दिन बाद सड़कों से हटेंगे बैरिकेड पर शाम 6 के बाद हर किसी से होगी पूछताछ

रायपुर:राजधानी में आज से किराना, गाड़ी रिपेयरिंग, लॉन्ड्री और आटा चक्की समेत कई दुकानें खुलेंगी। बीज, खाद, कीटनाशक कृषि से जुड़ी मशीनरी की खरीदी बिक्री के लिए दुकानें खुलेंगी। गाडिय़ों की सर्विसिंग, पंचर, लॉन्ड्री सर्विस, आटा चक्की, पैकेजिंग मटेरियल से जुड़ी दुकानों को भी खोला जा रहा है।

नई दुकानें शाम 5, बाकी दोपहर 2 बजे तक : सब्जी-फल समेत जो कारोबार लॉकडाउन के दौरान ठेलों पर चल रहे थे, उनका समय सुबह 6 से 2 बजे तक ही रहेगा। केवल वहीं दुकानें सुबह से शाम 5 बजे तक खुलेंगी, जिन्हें 6 मई से खोला जा रहा है।

फल-सब्जी और नॉनवेज अभी की तरह ठेलों पर सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक ही बेचा जाएगा। थोक कारोबारियों को राहत देते हुए प्रशासन ने उनक समय 1 घंटा बढ़ाया है, यानी गुरुवार से फल-सब्जी और अनाज-किराना के थोक बाजार रात 11 बजे से सुबह 5 बजे तक चलेंगे। जिले की सीमाएं पहले की तरह सील रहेंगी। यही नहीं, सनडे यानी रविवार अब लॉकडाउन रहेगा और यह आगामी आदेश तक जारी रखा जाएगा।

प्रशासन ने साफ कर दिया है कि शादियों और अंतिम संस्कार में अब भी केवल 10 लोगों को ही अनुमति रहेगी। यही नहीं, शादियां वर या वधु के घर पर ही की जा सकेंगी। थोड़ी छूट गर्मी की वजह से दी गई है कि अब कूलर, एसी, सेनिटरी और बिजली के काम में लगे प्रोफेशनल लोगों को घरों में जाकर सर्विस दे पाएंगे।

कोरोना प्रोटोकॉल से सभी सरकारी दफ्तर खुलेंगे लेकिन आम लोगों को प्रवेश नहीं :

तकरीबन सभी सरकारी दफ्तर खुलेंगे, 5लेकिन अधिकांश में आम लोग बैन हैं। कलेक्टोरेट, तहसील, हाउसिंग बोर्ड-आरडीए, बैंक-बीमा सेक्टर समेत लगभग सारे दफ्तर कल से कोरोना प्रोटोकॉल में खुलेंगे।

यह बंद रहेगा 17 तारीख तक

सभी बाजार, शॉपिंग मॉल, सुपर बाजार, क्लब, सैलून, ब्यूटी पार्लर, मैरिज हॉल, जिम, शराब दुकान, बार, होटल, रेस्तरां, ढाबे बंद रहेंगे। सभी सीमाएं भी सील रहेंगी। धार्मिक स्थल, सांस्कृतिक व पर्यटन स्थल, जुलूस-जलसे, गार्डन, जंगल सफारी भी बंद। स्कूल-कॉलेज, कोचिंग सेंटर समेत शैक्षणिक संस्थान नहीं खुलेंगे। पान, सिगरेट, चौपाटी, चाट, फास्टफूड वाले सेंटर बंद रहेंगे। बैंकों में आम लोगों का प्रवेश भी प्रतिबंधित।

निगरानी के लिए आठ टीमें

बाजारों में मामूली राहत की निगरानी के लिए कलेक्टर ने बुधवार को 8 टीम बनाई हैं, जो सुबह से शाम तक बाजारों में घूम-घूमकर जांच करेंगी कि कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है कि नहीं। हर दुकान की जांच की जाएगी। कोई भी कारोबारी निर्देशों का उल्लंघन करते पाया जाएगा, उस पर जुर्माने के साथ-साथ दुकान को 30 दिनों के लिए सील किया जाएगा।

इस नई व्यवस्था के लिए प्रशासन के वॉर रूम में बुधवार की शाम बैठक हुई। इसमें कलेक्टर डॉ. एस भारतीदासन, एसएसपी अजय यादव, निगम कमिश्नर सौरभ कुमार समेत खाद्य, पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी मौजूद थे। कलेक्टर ने कारोबारियों और लोगों से अपील की है कि लॉकडाउन में घरों से न निकलें, शर्तों और आदेशों का पालन करें। ऐसा कोई भी काम न करें, जिससे लॉकडाउन के आदेश का उल्लंघन हो। कारोबारी संगठनों से अपील की है कि वे ध्यान देवे कि केवल वे ही दुकानें खुले, जिसको छूट दी गई है।

शहर में 26 दिन बाद सड़कों से हटेंगे बैरिकेड पर शाम 6 के बाद हर किसी से होगी पूछताछ

लॉकडाउन में आंशिक राहत के साथ पुलिस भी गुरुवार से अपने सिस्टम में थोड़ा बदलाव करने जा रही है। लॉकडाउन के दौरान शहर की 25 से ज्यादा प्रमुख सड़कों को वन-वे किया गया था, जिनमें से कुछ स्थायी तौर पर बंद भी कर दी गई थीं। इन सड़कों के सारे बैरिकेड हटाने का काम पुलिस ने बुधवार की रात से शुरू कर दिया। लेकिन प्रमुख चौक-चौराहों पर बैरिकेडिंग जारी रहेगी। अफसरों ने बताया कि शहर में सभी सड़कों पर केवल उन्हीं लोगों को आने-जाने की इजाजत रहेगी, जो किसी न किसी काम के सिलसिले में निकले हैं।

दिन में हर चौक-चौराहे पर पुलिस आकस्मिक मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की चेकिंग करेगी। इस चेकिंग के बाद शाम 6 बजे से चौराहों से गुजरनेवाले हर व्यक्ति को रोककर आने-जाने का कारण पूछा जाएगा। अगर आपात कारण नहीं बता सके तो नियमानुसार जुर्माना और गाड़ी जब्त करने की कार्रवाई होगी। पुलिस अफसरों ने लोगों से अपील की है कि लॉकडाउन में थोड़ी राहत का आशय यह नहीं समझा जाए कि आने-जाने की छूट मिल गई है। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत जितनी भी जरूरी जांच हैं, पुलिस उन्हें और तेज करेगी।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button