बच्चे ने सांप के बिल पर रख दिया पैर, काटने से बच्चे की मौत

करोडों रुपये में बना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र करतला नही बचा सका जान

करतला: बीते दिनों करतला थाना क्षेत्र के ग्राम बिंजकोट में ध्वजा सिंह राठिया के घर में एक वैवाहिक कार्यक्रम था जिसमें उनके पुत्र दिलेश्वर सिंह राठिया (10वर्ष) द्वारा अपने घर के पास के ही सांप के टीले में पांव रख दिया गया। जिससे वहां मौजूद सर्प ने बच्चे को डस लिया।

बच्चे हालात खराब देख परिजनों ने सीधे उसे समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र करतला ले लाये। जहां उसे ठीक नही कर पाने की स्थिति में देखते हुए कोरबा के ट्रामा सेंटर रेफर किया गया परंतु वहां भी ईलाज में सफलता नही मिलने से बच्चे को लेकर कोसाबाड़ी स्थित अस्पताल ले पहुंचे।

काफी अस्पतालों के चक्कर लगाते लगाते बच्चे के ठीक से इलाज नह कर पाने के चलते जहर से उसकी मौत हो गयी। करोड़ो रूपये की लागत से बने अस्पताल आज एक सर्प के दंश से भी क्षेत्रवासियों को नही बचा पा रहे है यह चिंता का विषय बना हुआ है।

महज सर्दी, खांसी बुखार के लिए ही यदि शासन ने दुरंचल में ऐसे प्राथमिक और समुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों की स्थापना की ऐसा प्रतीत होता है। जबकि गंभीर बीमारी के इलाज की सुविधा आ भी करतला क्षेत्र में मौजूद नही है।

भालू काटने, सर्प दंश की शिकायतें ज्यादा आने खव बावजूद आज भी क्षेत्र में कोई असरदार अस्पताल और शासकीय अस्पतालों में सुविधाओं की कमी ने ग्रामीणों का जीना मुश्किल कर दिया है।

Back to top button