पेटी कांट्रेक्टर व अधिकारी मिल सकरी तखतपुर मार्ग में कर रहे फर्जीवाड़ा

मनीष शर्मा:

बिलासपुर: सकरी बाईपास से तखतपुर सड़क चौड़ीकरण का काम वर्तमान में चल रहा है इस काम के लिए निविदाकार ने निविदा मिलते ही पेटी कांटेक्ट में देकर एक निश्चित राशि अर्जित कर किनारे हो लिए।

इस कार्य के लिए निविदाकार में अनिल बिल्डकॉन बिलासपुर है इस कार्य की अनुमानित लागत 131.34 करोड़ थी जिसमे इस कार्य को करने फर्म द्वारा 23 % कम में काम लेकर दूसरे पेटी कांट्रेक्टर को थमा दिया गया है। जिसके बाद यहां भर्राशाही से काम हो रहा है।

बता दें जिस ढर्रे से सकरी बाईपास से तखतपुर के मार्ग में काम चल रहा है वहां कभी विभाग के अधिकारियों द्वारा घुसने की हिम्मत नहीं की जाती है। इस साइड के सब इंजीनियर खांडे जो कि नियमतः सभी कार्य के लिए विभागीय स्तर से जिम्मेदार है उनके द्वारा भी इस काम के संबंध में पूछे जाने पर कार्यपालन अभियंता से बात करने कहा जाता है।

टेस्ट बिना ही दे दे रहे है आरएफआई रिपोर्ट

उनका कहना यह भी है कि हम अधीनस्थ लोगों को कोई भी जानकारी देने कार्यपालन अभियंता द्वारा मना कर रखा गया है। इसलिए हम कोई भी जानकारी नही देने बाध्य है। इतना ही नही सब इंजीनियर एफडीडी, एआईवी टेस्ट बिना ही दे दे रहे है आरएफआई रिपोर्ट।

मुरूम में मानक के अनुसार CBR एवं LLPI नही

इस सड़क मार्ग में प्रमुख रूप से जो विसंगति है उस मुरूम में मानक के अनुसार CBR एवं LLPI नही है। बड़े बड़े मेटल कॉम्पेक्ट करने पर भी नही फूटने पर सड़क मार्गो की दुर्दशा वही से बनना शुरू हो जाती है।नियमतः सबग्रेड थिकनेस500 के मानक में आना चाहिए मगर अधिकारियों, ठेकेदार की सांठगांठ से 350 से 400में ही निपटाया जा रहा है।

साथ ही डब्लूबीएम,जीएसबी कोरियल भी गुणवत्ताहीन किया जा रहा है। जिसके चलते ग्रेडेशन आना संभव नहीं है। मगर ठेकेदार एवं अधिकारियों के मिलीभगत से सारे मानक, नियमों को ताक पर रख काम कराया जा रहा है।

बताया यह भी जा रहा है जिस पेटी ठेकेदार द्वारा कार्य संपादित किया जा रहा है उसके लिए सारे नियम कायदे विभाग किनारे रख काम करने की खुली छूट दे रखे हैं।जब विभागीय अधिकारियों एवं निविदाकार, पेटी कांट्रेक्टर के बीच ऐसा गजब का त्रिवेणी मेलजोल हो जाय फिर तो काम का भगवान भरोसे ही होना संभव लग रहा है।

इस मार्ग में सबग्रेड का मटेरियल चेक नही हो रहा। जीएसबी और डब्लूएमएम का माल बिछाया जा रहा है उसमे AIV और ग्रेडेशन मानक के अनुसार नही है। जिससे रोड कभी भी धंसक जाने की संभावना है।

प्रमुख मार्ग पर पेटी ठेकेदार द्वारा सांठगांठ कर सरकार को चुना लगाने का काम अधिकारियों के रहमोकरम से किया जा रहा है। दुर्भाग्यपूर्ण बात यह भी देखी जा रही है कि इस सड़क मार्ग से अनेक प्रभावशाली लोगों का गुजरना हो रहा है मगर गुणवत्ताहीन काम की अनदेखी की जा रही है।

Tags
Back to top button