बिज़नेस

PF : जानिए जल्द क्लेम पाने का फॉर्मूला, 72 घंटों में होगी कार्रवाई

कोविड-19 के तहत ऑनलाइन दावों पर 72 घंटों के भीतर स्वचालित स्थिति (ऑटो मोड) पर कार्रवाई की जा रही है।

नई दिल्ली: कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees Provident Fund Organization) अंशधारक जिन्होंने किसी अन्य दावे के लिए आवेदन किया है और वो अभी तक तय नहीं हो पाया है तो ऐसे अंशधारक तेजी से निपटान के लिए ऑनलाइन दावा फाइल कर सकते हैं। ईपीएफओ ने कहा कि कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) दावों के लिए विशेष कोरोना वायरस निकासी योजना के तहत प्राथमिकता से काम किया जा रहा है।

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ने कहा, कोविड-19 के तहत ऑनलाइन दावों पर 72 घंटों के भीतर स्वचालित स्थिति (ऑटो मोड) पर कार्रवाई की जा रही है। हालांकि, जिन दावों की पूरी तरह से केवाईसी शिकायत नहीं है उन्हें मैनुअल देखने की आवश्यकता होती है जिसमें समय लगता है। हम अन्य दावों पर भी कार्रवाई कर रहे हैं।

ईपीएफओ ने लॉकडाउन के दौरान अंशधारकों को राहत देने के लिए 280 करोड़ रुपये के 1.37 लाख निकासी दावों का निपटान किया है। श्रम मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि लॉकडाउन के दौरान ईपीएफओ ने 279.65 करोड़ रुपये के 1.37 लाख दावों का निपटान किया है।

इस योजना के तहत, ईपीएफओ अंशधारक अपनी बचत का 75 फीसदी या अधिकतम तीन महीने के मूल वेतन और महंगाई भत्ते को अपने पीएफ खाते से निकाल सकते हैं (जो भी कम हो)। नए महामारी वापसी प्रावधान के अलावा, ईपीएफओ ने ग्राहकों को वर्तमान में घर निर्माण, शादी, बच्चों की शिक्षा, बीमारी और बेरोजगारी को वापस लेने की भी अनुमति दी है।

श्रम मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि अंशधारकों को उनके द्वारा की गई निकासी का पैसा मिलना शुरू हो गया है। ईपीएफओ ने पिछले दस दिन में इन दावों का निपटान किया है। ईपीएफओ ने कहा कि उसकी प्रणाली में पूरी तरह से अपने ग्राहक को जानिए (केवाईसी) अनुपालन वाले अंशधारकों के दावों का निपटान तीन दिन से कम के समय में किया जा रहा है।

कोरोना वायरस संकट

मंत्रालय ने कहा कि जिन सदस्यों ने किसी अन्य श्रेणी में आवेदन किया है वे भी कोरोना वायरस संकट से निपटने के लिए केवाईसी अनुपालन की स्थिति के अनुसार निकासी का दावा कर सकते हैं। बयान में कहा गया है कि सभी दावों का निपटान तेजी से करने का हरसंभव प्रयास किया जा रहा है।

Tags
Back to top button