पीएचडी संघर्ष मोर्चा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को खून से लिखा एक पत्र

जौनपुर: पीएचडी परीक्षा परिणाम में हुई अनियमितता जैसी जटिल समस्या का अतिशीघ्र स्थायी समाधान करने पीएचडी संघर्ष मोर्चा के सामूहिक ने रक्तपत्र कार्यक्रम के तहत मोर्चा के सदस्यों ने अपना खून निकलवाया और इसके बाद खून से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम पत्र लिखे.

खून से लिखे गए पत्रों में कहा गया है कि हम शोध अभ्यर्थियों के साथ विश्विद्यालय प्रशासन व कुलपति द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है. शोध परीक्षा परिणाम में पूर्व में उत्तीर्ण होते हुए भी हम अभ्यर्थियों को साजिशन अनुत्तीर्ण किया गया.

सभी ने एक-एक करके पत्र के माध्यम से कहा है कि हम शोध अभ्यर्थियों के भविष्य को देखते हुए हमारी समस्या का अतिशीघ्र समाधान किया जाय. पीएचडी के पीड़ित अभ्यर्थियों ने कहा कि हमारे जीवन में खुशी तभी आएगी, जब हमको पूर्वांचल विश्वविद्यालय के कुलपति द्वारा न्याय मिल जाएगा. जब तक न्याय नही मिलेगा, हम इस तरीके से संवैधानिक लड़ाई लड़ते रहेंगे.

बता दें कि इन छात्रों का आंदोलन काफी समय से चल रहा है. वहीं, आगामी दीक्षांत समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल आएंगी. ऐसे में हमगामा होने की पूरी उम्मीद जताई जा रही है.

Back to top button