राष्ट्रीय

झारखंड की अदालतों में दो फरवरी से शुरू हो जायेगी फिजिकल सुनवाई

हाईकोर्ट के आदेश के बाद अब न्यायालय में फिर से दिखाई देगी चहल-पहल

नई दिल्ली:झारखंड हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल ने फिजिकल सुनवाई के लिए सभी जिले के न्यायाधीशों को पत्र लिखकर फिजिकल कोर्ट शुरू करने का निर्देश दे दिया है. वहीँ अब अदालतों में दो फरवरी से फिजिकल सुनवाई शुरू हो जायेगी. हाईकोर्ट के आदेश के बाद अब न्यायालय में फिर से चहल-पहल दिखाई देगी. इस फैसले से राज्यभर के वकीलों में खुशी की लहर है.

कोरोना महामारी के दौरान हुए लॉकडाउन के करीब 10 महीनों के बाद झारखंड की अदालतों में अब मुकदमों की सुनवाई आमने-सामने होगी. इस खबर के बाद से राज्य के करीब 35 हजार वकीलों में खुशी की लहर है. वकील कोर्ट में फिजिकल सुनवाई की मांग कर रहे थे. झारखंड हाईकोर्ट के रजिस्ट्रार जनरल ने सभी जिले के न्यायाधीशों को पत्र लिखकर फिजिकल कोर्ट शुरू करने का निर्देश दे दिया है. बता दें कि लॉकडाउन के वक्त से ही झारखंड की पूरी न्यायपालिका वर्चुअल मोड पर काम कर रही थी.

स्टेट बार काउंसिल के अध्यक्ष राजेंद्र कृष्णा ने कहा है कि फिजिकल कोर्ट शुरू किए जाने का फैसला स्वागत के योग्य है. इसके साथ ही उन्होंने झारखंड के वकीलों से यह अपील की है कि कोविड-19 के मद्देनजर राज्य सरकार और केंद्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए फिजिकल कोर्ट में अधिवक्ता सुनवाई के लिए उपस्थित हों.

झारखंड हाइकोर्ट समेत राज्य की सभी जिला अदालतों में फिजिकल सुनवाई के लिए एसओपी जारी कर दी गयी है. एसओपी के मुताबिक हाइकोर्ट की गाइडलाइन के तहत अदालतों में मुकदमों की सुनवाई के दौरान सभी नियमों का पालन करना होगा.

फिजिकल कोर्ट में सुनवाई शुरू करने के पहले सुप्रीम कोर्ट की ओर से जारी कोविड-19 यूजर मैनुअल की ट्रेनिंग लेना जरूरी है. साथ ही इसे सभी कोर्ट के लिए जारी करने और सभी कोर्ट फिजिकल और वर्चुअल कोर्ट के लिए अलग-अलग कॉज लिस्ट जारी करने का निर्देश दिया गया है.

जताया आभार

झारखंड स्टेट बार काउंसिल के वाईस चेयरमैन राजेश कुमार शुक्ल ने झारखंड में 2 फरवरी से न्यायालयों में फिजिकल कोर्ट कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से पूरी सुरक्षा के साथ शुरू कराये जाने का स्वागत किया है.

उन्होंने इसके लिए झारखंड के मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति डॉ. रवि रंजन तथा उच्च न्यायालय की कोर कमेटी का आभार जताया है. उन्होंने कहा है कि झारखंड हाईकोर्ट ने झारखंड राज्य बार कौंसिल की भावनाओं का सम्मान किया है, जिससे राज्य के अधिवक्ताओं में खुशी की लहर है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button