छत्तीसगढ़

संजय नगर में शीघ्र बिछाई जाएगी पाइपलाइन, दूषित पानी से मिलेगी मुक्ति

राजनांदगांव : नलों में गंदा पानी आने की शिकायत मिलने पर कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आज राजनांदगांव नगर निगम के विभिन्न वार्डों में पेयजल की स्थिति का जायजा लिया। साथ ही विशेष सफाई अभियान का निरीक्षण भी किया। लखोली के वार्ड नंबर 34 एवं 35 में कलेक्टर ने उन स्थलों का निरीक्षण किया, जहाँ से नलों में गंदे पानी की शिकायत आ रही थी। नागरिकों ने बताया कि यहाँ पाइप लाइन गलियों तक नहीं पहुँची है और लोगों ने व्यक्तिगत रूप से पाइपलाइन बिछाई है। लंबी पाइप लाइन होने के कारण इसमें लीकेज हो जाता है और गंदे पानी की समस्या आती है। मौके पर उपस्थित नगर निगम कमिश्नर श्री अश्विनी देवांगन ने बताया कि शुद्ध पेयजल आपूर्ति सबको सुनिश्चित करने के उद्देश्य से नगरीय निकायों के ऐसे स्थलों का चिन्हांकन किया गया है जहाँ पाइपलाइन बिछाने की जरूरत है, इसमें यह हिस्सा भी शामिल है। कलेक्टर ने कहा कि इसमें कुछ समय लग सकता है, वार्डवासियों को फौरी राहत देने के लिए लीकेज ठीक करते हुए नये पाइपलाइन पर आवश्यक कार्य तुरंत आरंभ कर दें। कलेक्टर ने इस दौरान विशेष सफाई अभियान का निरीक्षण भी किया। जिन स्थलों पर सफाई में बेहतर कार्य हो रहा था, वहाँ सफाई कर्मियों को सराहा। जिन जगहों पर काम में ढिलाई देखी, वहाँ सख्त नाराजगी जाहिर की एवं अनुपस्थित सफाईकर्मियों पर कार्रवाई के लिए निर्देश दिया।

प्राइवेट स्कूल का किया निरीक्षण –
कलेक्टर ने लखोली में एक निजी स्कूल साई पब्लिक स्कूल का निरीक्षण भी किया। वहाँ उन्होंने पाया कि स्कूल प्रबंधन द्वारा स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा जारी किए गए मानकों का पूरी तरह पालन नहीं हो रहा। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को स्कूल की जाँच कर इस संबंध में कार्रवाई करने निर्देशित किया।

पुलिस सहायता केंद्र भी पहुँचे –
संजय नगर के निवासियों ने कलेक्टर से शिकायत करते हुए कहा कि गार्डन एवं नगर के निकटस्थ इलाकों में असमाजिक तत्व काफी सक्रिय हो गए हैं। इससे वार्डवासियों को काफी परेशानी हो रही है। शिकायत के पश्चात कलेक्टर पुलिस सहायता केंद्र पहुँचे और इलाके में पेट्रोलिंग तेज करने निर्देशित किया। नागरिकों ने एक गंजेड़ी द्वारा नशे की स्थिति में अक्सर दुव्र्यवहार करने की शिकायत भी की थी, इस पर कार्रवाई के निर्देश पुलिस केंद्र में दिए।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.