पहलाज निहलानी ने कहा- यदि दर्शक देंगे 1 लाख वोट तो अनुष्का बोल पाएंगी ‘इंटरकोर्स’

सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहालनी का मानना है कि अगर जनता के एक लाख वोट उन्हे मिल जाए कि ‘इंटरकोर्स’ शब्द से उन्हे कोई आपत्ति नहीं है तो शाहरुख की आने वाली फिल्म में इस शब्द को नहीं हटाएंगे।
दरअसल, शाहरुख खान की आने वाली फिल्म ‘जब हैरी मीट सेजल’ का जमकर प्रमोशन करने में लगे हुए है। इसके लिए उन्होंने फिल्म के मिनी ट्रेल्स रिलीज किए थे। इस ट्रेल में ‘इंटरकोर्स’ शब्द का इस्तेमाल किया गया था जिससे सेंसर बोर्ड ने आपत्ती जताई थी और बोर्ड के अध्यक्ष पहलाज निहालनी ने हटाने का आदेश दिया था। लेकिन अभी तक इस शब्द को हटाया नहीं गया है।

सेंसर बोर्ड के इस आदेश के बाद फैंस में सोशल मीडिया पर गुस्सा भड़क गया। इसी मामले को लेकर हाल ही में पहलाज निहालनी ने एक इंटरव्यू में कहा है, “जनता से वोटिंग करा लेते है अगर एक लाख लोगो ने वोट किया कि उन्हे इस शब्द से कोई आपत्ती नहीं है तो मैं इस शब्द को फिल्म और प्रोमो में लेने के लिए तैयार हूं। मैं देखना चाहता हुं कि भारतीय परिवार कितने बदल गए हैं। क्या वो चाहते है कि उनके 12 साल के ‘इंतरकोर्स’ जैसे शब्द का मतलब समझें।”

आपको बता दें कि सोमवार को इंटरनेट पर रिलीज हुए फिल्म में मिनी प्रोमो में अनुष्का शर्मा एक सीन में इंटरकोर्स शब्द बोलती नजर आ रही हैं। इसी को लेकर सेंसर बोर्ड ने आपत्ती जताई है।

इस प्रोमो को देखने के बाद पहलाज निहालनी ने कहा है कि उन्होने फिल्म को U/A सर्टिफिकेट दे दिया है सिर्फ इस शर्त पर कि इंटरकोर्स डायलॉग को डिलीट किया जाएगा लेकिन अभी तक ऐसा नहीं किया गया है तो इसका मतलब साफ है कि फिल्म को अभी तक पास नहीं किया गया है।

इसके साथ ही पहलाज निहालनी ने ये भी कहा है कि फिल्म मेकर्स ने फिल्म के प्रोमो को इंटरनेट पर अपलोड कर दिया है बिना इस शब्द को कट किए लेकिन टीवी पर बिना कट के हम इसका प्रसारण होने नहीं देंगे।

फिल्म 4 अगस्त को रिलीज होने वाली है ऐसे में ये देखना दिलचस्प होगा कि फिल्म मेकर्स इस शब्द को हटाते है या सेंसर बोर्ड को कोई ठोस कदम उठाना होगा।
Back to top button