पीयूष गोयल : बिहार में 4 नए रेल प्रोजेक्ट शुरू करने की तारीख निश्चित नहीं

लोकसभा में एक प्रश्न के उत्तर में पीयूष गोयल ने कहा कि 4302 करोड़ की लागत वाली चारों परियोजनाएं सरकार के अनुमोदन के अधीन हैं. इन्हें शुरू करना संबंधित परियोजनाओं की फंडिंग और सरकार की स्वीकृति पर निर्भर करता है

पीयूष गोयल : बिहार में 4 नए रेल प्रोजेक्ट शुरू करने की तारीख निश्चित नहीं

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि बिहार में पूर्ण और आंशिक रूप से आने वाली चार नई रेल परियोजनाओं को शुरू करने का प्रस्ताव किया गया है और यह सरकार के अनुमोदन के अधीन है.

लोकसभा में सतीश चंद्र दूबे के एक सवाल के जवाब में रेल मंत्री ने कहा कि 4302 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली चारों परियोजनाएं सरकार के अनुमोदन के अधीन हैं. इन्हें शुरू करना संबंधित परियोजनाओं की फंडिंग (वित्तीय अर्थक्षमता) और सरकार (नीति आयोग और आर्थिक मामलों संबंधी मंत्रिमंडल की समिति) की स्वीकृति पर निर्भर करता है.

उन्होंने बताया कि यह चार नई परियोजनाएं हैं- मुजफ्फरपुर-सगौली (101 किलोमीटर) विद्युतीकरण और दोहरीकरण, सगौली-वाल्मीकिनगर (110 किलोमीटर) विद्युतीकरण और दोहरीकरण, विक्रमशिला-कटारिया (32 किलोमीटर) नई लाइन और वजीरगंज-जेठियां बरास्ता गहलूर (20 किलोमीटर) नई लाइन शामिल है.

इन परियोजनाओं के अलावा रेलवे ने बिहार में 32 नई लाइन, पांच आमान परिवर्तन और 11 दोहरीकरण परियोजनाएं शुरू की हैं जिनकी लागत 51 हजार 412 करोड़ रुपए है. इसके अलावा बिहार में 38 नई रेल परियोजनाओं के लिए सर्वेक्षण शुरू किए गए हैं जिनमें 30 नई लाइन और 8 दोहरीकरण की परियोजनाएं शामिल हैं.

advt
Back to top button