नहीं रहे प्लेबॉय मैगजीन के मालिक ह्यू हेफनर

प्लेबॉय एंटरप्राइजेस ने बयान जारी कर बताया कि 91 साल के हेफनर का उनके घर ‘प्लेबॉय मेंशन’ पर निधन हुआ. अपनी आलीशान और विवादों भरी लाइफ को लेकर हेफनर हमेशा सुर्खियों में रहे. उनकी मौत के वक्त भी प्लेबॉय 43 मिलियन डॉलर की कंपनी है. प्लेबॉय मैगजीन की शुरुआत 60 साल पहले 1953 में हुई थी. ये मैगजीन अपने कॉन्टेंट को लेकर पुरुषों के बीच काफी लोकप्रिय है. प्लेबॉय ने ट्विटर पर पोस्ट कर उनके निधन की जानकारी दी है.

उनकी निजी जिंदगी भी उनकी मैगजीन की तरह स्‍कैंडल्‍स से भरी हुई थी. मैगजीन के पहले सेंटरफोल्ड में मशहूर एक्ट्रेस मर्लिन मुनरो का न्‍यूड फोटो छपा था, जिसे देख पूरे अमेरिका में हंगामा मच गया और देखते-देखते प्‍लेब्‍वॉय खासतौर पर युवाओं की पहली पसंद बन गई. हेफनर की गर्लफ्रेंड होली मैडिसन ने उनसे अलग होने के बाद आरोप लगाया था कि उनके तमाम लड़कियों से संबंध थे.

डायरी में नोट करते थे किससे बनाए संबंध

मैडिसन के अनुसार, हेफनर अपने घर में आने वाली हर लड़की का फोटो रखते थे. यही नहीं, वह एक डायरी मेंटेन करते थे जिसमें किसके साथ रिश्ते बने, इसकी जानकारी होती थी. ह्यूज हेफनर को तो याद ही नहीं था कि वह अब तक कितनी औरतों के साथ रिश्ते बना चुके हैं. डेली मिरर में छपी एक रिपोर्ट में हेफनर ने बताया था कि वह बहुत पहले ही गिनती करना बंद कर चुके हैं. वह क्वॉन्टिटी नहीं बल्कि क्वॉलिटी में यकीन रखते हैं. अनुमान है कि वह 5000 औरतों के संग संबंध बना चुके थे.

साइकोलॉजी के स्‍टूडेंट रह चुके हैं हेफनर
‘प्‍लेब्‍वॉय’ पत्रिका के एडिटर ह्यूग हेफनर मनोविज्ञान के स्‍टूडेंट रह चुके हैं. हरफनमौला हेफनर ने ‘प्‍लेब्‍वॉय’ के लोगो के रूप में चुना रैबिट. हेफनर ने एक इंटरव्‍यू में इस लोगो के बारे में खुसाला किया था. उन्‍होंने कहा था कि रैबिट एक ऐसा जन्‍तु है, जो अमेरिका में ‘सेक्‍स’ से जोड़कर देखा जाता है. उनकी नजर में यह फुर्तीला है, चतुर है, शर्मीला है और इधर-उधर कूदने वाला सेक्‍सी और हॉट है.

Back to top button