प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर के नौशेरा में जवानों के साथ दीपावली मनाई

सैनिकों को देश का सुरक्षा कवच बताया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि देश के सैनिक उनके परिवार जैसे हैं और मातृभूमि के सुरक्षा कवच हैं। श्री मोदी ने कहा कि सीमा पर तैनात इन चौकन्‍ने सैनिकों के कारण ही देशवासी चैन की नींद सोते हैं और त्योहारों में खुशियां मनाते हैं।
आज जम्मू-कश्मीर के नौशेरा में सैनिकों को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने हर साल अपनी दीपावली सीमा की रक्षा करने वाले सैनिकों के साथ मनाई है।
श्री मोदी ने कहा कि भारत आज आत्‍मनिर्भर और सशक्‍त है और देश के रक्षा बजट का 65 प्रतिशत हिस्‍सा देश में ही बने रक्षा उपकरणों पर खर्च होता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि अब हम देश में ही उन्‍नत रक्षा उपकरण बनाने लगे हैं।
श्री मोदी ने महिला सैनिकों की प्रशंसा करते हुए कहा कि देश की रक्षा में महिलाओं की भूमिका नई ऊंचाईयां छू रही है। उन्‍होंने कहा कि अब थल सेना में महिलाओं को स्‍थायी कमीशन दिया जाने लगा है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्‍होंने अपनी हर दीपावली सीमा पर तैनात सैनिकों के साथ मनाई है। उन्‍होंने कहा कि वे आज करोड़ों देशवासियों का आशीर्वाद सैनिकों के लिए लेकर आए हैं। प्रधानमंत्री ने सर्जिकल स्‍ट्राइक के बहादुरों का श्रद्धा के साथ स्‍मरण किया।
आतंकवाद के प्रायोजकों को कड़ी चेतावनी देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर में शांति भंग करने के कई प्रयास किये जिन्‍हें विफल कर दिया गया।
श्री मोदी सैनिकों के साथ दीपावली मनाने के लिए इस समय जम्मू के नौशेरा में हैं। 2019 के बाद से प्रधानमंत्री की राजौरी की यह दूसरी यात्रा है जब उन्होंने सैनिकों के साथ दीपावली मनाई थी। थल सेनाध्‍यक्ष जनरल मनोज नरवणे भी नौशेरा में हैं।
प्रधानमंत्री मोदी ने नौशेरा में शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित की। उन्‍होंने सैनिकों को मिठाई खिलाई और उनके साथ दोपहर का भोजन किया।
प्रधानमंत्री का यह दौरा सीमा पर जवानों का मनोबल बढ़ाने वाला है। 2014 से ही प्रधानमंत्री सीमा पर सैनिकों के साथ दीपावली मना रहे हैं।
प्रधानमंत्री आज सुबह जब दिल्‍ली से नौशेरा के लिए रवाना हुए, तो सुरक्षा के न्‍यूनतम इंतजाम थे और उनके लिए विशेष रूट नहीं लगाया गया था।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button