पीएम आवास योजना चढ़ा भ्रष्टाचार की भेंट, प्रभावितों का फूटा गुस्सा

बालकृष्ण अग्रवाल :

पेंड्रा :

एक ओर लोकतंत्र को मजबूत बनाने विभिन्न माध्यमों से जागरूक कर वोट करने की अपील कर रही है प्रचार प्रसार पर करोड़ो रूपये भी खर्च कर रही तो वहीं दूसरी ओर गौरेला के हर्राटोला सतोकपुर के ग्रामीण जनपद पंचायत में हो रहें भ्रष्टाचार को लेकर मोर्चा खोल मतदान का बहिष्कार करते हुये वोट न करने का निर्णय ले लिया है ।

दरअसल पूरा मामला गौरेला ब्लाक हर्राटोला गांव का है जहां प्रधानमंत्री आवास के योजना के तहत आवास का निर्माण कराया जा रहा है पर जनपद पंचायत में पदस्थ कर्मचारी और आवास मित्र के मिलीभगत से आवास योजना भ्रष्टाचार की भेंट चढ गया है ।

जहां पर लगभग दर्जनों  आवास कागजों पर बना कर राशि का आहरण कर लिया गया है तो कई हितग्राही जो गांव में रहतें ही नहीं उनके नाम से आवास का होना कागजों में बता दिया गया है और जनपद के कर्मचारियों से मिलीभगत कर किसी अन्य जगह के आवासों को दिखाकर आनलाईन रिपोर्ट प्रस्तुत कर दिया गया है ।

मामले का खुलासा होने पर प्रधानमंत्री के महत्वाकांक्षी योजना पर व्यापक पैमाने में हुये भ्रष्टाचार के खिलाफ ग्रामीणें ने मोर्चा खोलतें हुये आगामी चुनावों का बहिष्कार करने का मन बना लिया है तो वहीं ग्रामीणों ने प्रषासन के सामने चोरी हुये आवासों को खोजने की भी गुहार लगाई हैं ।

ग्रामीणों और परिजनों का आरोप है की सुघरनबाई पिता वीर सिंह की मौत लगभग 6 से 7 साल पहले हो चुकी है लेकिन आवास मित्र अब्दुल रशीद और जनपद में पदस्थ बाबू धनसिंह राठौर पर भ्रष्टाचार और मिलीभगत कर मृत सुघरन बाई के नाम पर आवास पास करा लिया और कागजो में उसको उसको बना कर उसकी प्रथम क़िस्त को आवास मित्र अपनी घरवाली के खाते में ट्रांसफर भी करवा लिया।

जब गांव के कुछ युवा ने मोबाइल में ऑनलाइन आवास की जानकारी ली तो उनके होश उड़ गए गांव के लगभग 1 दर्जन से अधिक ऐसे लोग है जिनके नाम से आवास पास भी हुआ और उनको मिला भी नही।

जब लोगो का इस मिलीभगत और भरस्टाचार का पता चला और हितग्रहियों के घर मे आवास नही मिला तो उनको पता चला कि उनका आवास की चोरी कर लिया गया और कागजों में सुगरण बाई का आवास बना दिया गया है जिसके कारण हम ग्रामीणजन आगामी चुनावों में वोट न करने मन बना लिया है।

साथ ही गांव में कई ऐसे मामले है जिसमें हितग्राही की मौत हो चुकी तो कई हितग्राही सालों पहले गांव से पलायन कर गये है उनके नाम से भी योजनाबद्ध तरीके से प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत करा कर कागजों में ही आवास बना कर पैसा आहरित कर लिया गया है जिसे लेकर ग्रामीणों में आक्रोष है।

वहीं अधिकारी का कहना है कि मामले में जांच कमेटी बना दी गई और जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों पर कार्यवाही की जायेगी साथ ही वोट बहिष्कार करने के मामले में स्वयं पूरी टीम के साथ पहुच कर लोगों को समझाने का प्रयास करेंगें। ।।

इनका क्या कहना है

1 मुझे अभी इस मामले की जानकारी प्राप्त हुई है मैं तत्काल जनपद पंचायत के सीईओ और टीम रवाना कर के जांच करवाता हु मैं स्वयं गांव जाऊंगा। हमने हर्रा टोला को आदर्श मतदान केंद्र बनाया है । मैं स्वंम गांव वालों से जाकर मिलूंगा उनकी समस्या का समाधान करूँगा और दोषियों पर कार्यवाही की जावेगी।।
एसडीएम पेंड्रारोड नुतन कंवर

2 हमारे गांव से लगातार आवास चोरी होते जा रहे है जिसकी शिकायत हम थाने में अनुविभागीय अधिकारी और कलेक्टर से करेंगे जब तक हमारा आवास नही मिल जाता तब तक मै और मेरा पूरा परिवार किसी भी चुनाव में मतदान नही करेगा।।
लोकेश साहू युवा मतदाता सतोकपुर

3 हमारे गांव में जनपद के कर्मचारी और आवास मित्र के द्वारा कागजो में छेड़छाड़ कर के मरे हुए व्यक्ति का आवास पास करा के गलत तरीके से उसको राशी अपने खाते में ट्रांसफर करवा ली गई। गांव में लगभग दर्जन भर लोगो के साथ गलत हुआ है उनकी पहली किस्त को हितग्राहियो को बिना बताए निकाल ली गई है फोटो कही और का हितग्राही कोई और जब तक प्रशासन इसमे ठोस कार्यवाही नही करता जब तक हम मतदान नही करेंगे और गांव के लोगो को मतदान ना करने के लिए प्रेरित करेंगे ।।
जितेंद्र राज ग्रमीण सतोकपुर हर्राटोला

Back to top button