कानपुरः किम जोंग के साथ PM मोदी की तस्वीर, 22 व्यापारियों पर मुकदमा 1 को जेल

कानपुर शहर में दो दिन पहले उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के साथ प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीरें लगाए जाने से हड़कंप मच गया. पोस्टर लगाने वाले व्यापारी थे और पीएम मोदी से नाराज थे.

पोस्टर में एक तरफ किम जोंग की तस्वीर लगी है और उस पर लिखा है “उत्तर कोरिया को तबाह करने वाला”. दूसरी तरफ प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर है और उस पर लिखा है “व्यापार को तबाह करने वाला”.

22 व्यापारियों पर FIR, एक को जेल

इस पोस्टर के सामने आते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया, जिस व्यापारी ने इस पोस्टर को लगाया था, पुलिस पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

इस मामले में 22 व्यापारियों के खिलाफ एफआईआर हुई है और एक को पुलिस ने जेल भेज दिया है.

यह पोस्टर कानपुर शहर में अचानक कई जगहों पर नजर आया. इसके बाद प्रशासन ने पोस्टर लगाने वालों पर कार्रवाई की है.

‘लोकतंत्र में अपनी बात रखना भी गुनाह’

कानपुर पुलिस ने शहर के उन बाइस व्यापारियों पर कानून की अलग-अलग धाराओं में एफआईआर दर्ज कर दी है, जिन्होंने अपनी रेजगारी की समस्या से परेशान होकर कोरियाई तानाशाह किम जोंग के साथ पीएम मोदी के पोस्टर लगवाए थे, पोस्टर लगाने वाले एक युवक को पुलिस ने जेल भी भेज दिया है.

पुलिस की एफआईआर से परेशान व्यापारी अब यह सवाल पूछते घूम रहे हैं कि बीजेपी को वोट तो हमने भी दिया था तो क्या अब लोकतंत्र में अपनी बात रखना भी गुनाह है.

रेजगारी के स्टॉक से परेशान हैं व्यापारी

कानपुर में इन दिनों खुदरा रेजगारी के स्टॉक से शहर के व्यापारी बहुत परेशान हैं. व्यापारियों के पास लाखों की रेजगारी का स्टॉक जमा हो गया है, लेकिन बैंक रेजगारी नहीं ले रहे हैं.

व्यापारियों ने अधिकारियों से गुहार लगाई, लेकिन जब कोई राहत नहीं मिली तो कई व्यापारी संगठनों ने मिलकर किम जोंग और पीएम मोदी के ये होर्डिंग शहर भर में लगवा दिए.

इन होर्डिंगों में किम जोंग को दिखाया गया है और वह कह रहा है कि मैं दुनिया को समाप्त करके रहूंगा, जबकि पीएम मोदी व्यापार खत्म करके रहेंगे. व्यापारियों ने पीएम से यह भी पूछा है कि आप मन की बात में बताएं कि हम रेजगारी कहां चलाएं.

पोस्टर को पुलिस ने माना कानून का उल्लंघन

इस पोस्टर को कानपुर पुलिस ने कानून का उल्लंघन मानकर बाइस व्यापारियों पर केस दर्ज करके एक पोस्टर लगाने वाले को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

कानपुर में छोटे बड़े लाखों व्यापारी हैं. व्यापारियों का कहना है कि जब दिवाली के समय ही हमारे व्यापार की लाखों रेजगारी कोई नहीं ले रहा है, तो हम कहां जाएं.

Back to top button