PM मोदी पर दूसरी बार लगा चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप, कार्रवाई की मांग

रायपुर। लोकसभा चुनाव के नजदीक आते ही चुनावी प्रचार और रैलियों ने जोर पकड़ लिया है। हर राजनीतिक दल एक-दूसरे पर आचार संहिता उल्लंघन का आरोप लगा रहे हैं और शिकायत करने के लिए चुनाव आयोग का दरवाजा भी खटखटा रहे हैं।

वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बालोद में जनसभा के दौरान दिए भाषण को लेकर चुनाव आयोग के समक्ष शिकायत की है।

मुख्यमंत्री बघेल ने अपने शिकायत में कहा कि पीएम मोदी ने अपने पूरे भाषण में भारतीय सेना के शौर्य, पराक्रम की आड़ लेकर अपनी पीठ खुद थपथपाते रहे और अपने मुंह मिया मिट्ठू बनते रहे और देश की सेना के शौर्य और पराक्रम का उल्लेख कर चुनावी लाभ लेने और वोट बटोरने का काम करते रहे।

मुख्यमंत्री ने चुनाव आयोग को शिकायत में बताया कि पीएम मोदी ने यह भी कहा है कि भाजपा सेना को मजबूत करने के लिए चुनाव लड़ रही है और कांग्रेस सेना को कमजोर करने के लिए चुनाव लड़ रही है। उनका यह कथन ना केवल अप्रासंगिक था बल्कि सेना का नाम लेकर चुनावी फायदा उठाने की कोशिश भी थी।

इसी तरह से उन्होंने सेना द्वारा की गई सैन्य कार्रवाई का और हाल ही में सेना द्वारा अंतरिक्ष में सैटेलाईट नष्ट करने का जो परिक्षण किया था उसका उल्लेख किया और सैन्य कार्यों का राजनैतिक लाभ उठाने की कोशिश की गई। यह मुद्दे की सुरक्षा से जुड़े मसले है और राजनैतिक फायदे के लिए दुरूपयोग नहीं किया जाना चाहिए, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी लगातार यह कर रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि पीएम मोदी ने अपने भाषण में सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का जिक्र किया। जोकि चुनाव आचार संहिता का स्पष्ट उल्लंघन है। उन्होंने पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के तहत आयोग से कार्रवाई की मांग की है। बतादें कि चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए राजनीतिक दलों से अपील की थी कि वे राजनीतिक फायदे के लिए सैन्य बलों से जुड़ी हुई गतिविधियों का इस्तेमाल न करें।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल के साथ-साथ प्रतिनिधिमंडल में मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन, चुनाव प्रबंधन टीम के सदस्य किरणमयी नायक, मुख्य प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला, कांग्रेस चिकित्सा प्रकोष्ठ के अध्यक्ष राकेश गुप्ता मौजूद थे।

कांग्रेस ने पीएम मोदी के खिलाफ चुनाव आयोग से दूसरी बार शिकायत की है। इससे पहले कांग्रेस ने महाराष्ट्र के वर्धा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण को नफरत भरा और विभाजनकारी करार देते हुए चुनाव आयोग से शिकायत की थी।

Back to top button