PM मोदी ने उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की, इन मुद्दों पर हुई चर्चा….

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को व्हाइट हाउस में अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मुलाकात की। इस दौरान दोनों नेताओं ने दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने पर जोर दिया और पारस्परिक एवं वैश्विक हित वाले मुद्दों पर चर्चा की।

मुलाकात के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया , उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से मिलकर खुशी हुई। उनके इस कारनामे ने पूरी दुनिया को प्रेरणा दी है। हमने कई विषयों पर बात की जो भारत-अमेरिका की दोस्ती को और मजबूत करेंगे, जो साझा मूल्यों और सांस्कृतिक संबंधों पर आधारित है।

बता दें कि दोनों नेताओं के बीच यह पहली मुलाकात है। इससे पहले हैरिस ने भारत में कोविड-19 संकट के दौरान मोदी से फोन पर बात की थी।

पीएम मोदी ने हैरिस को भारत आने का न्योता भी दिया। उन्होंने कहा कि आपकी विजय यात्रा ऐतिहासिक है। भारत के लोग भी चाहेंगे कि भारत में आपकी इस ऐतिहासिक विजय यात्रा को सम्मानित करें, आपका स्वागत करें, इसलिए मैं आपको विशेष रूप से भारत आने का निमंत्रण देता हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस अपने संयुक्त बयान के बाद व्हाइट हाउस परिसर में बातचीत भी करते हुए नजर आए।

हैरिस ने भारत को अमेरिका का ”बेहद अहम भागीदार” करार दिया। साथ ही नयी दिल्ली की उस घोषणा का स्वागत किया जिसमें भारत ने जल्द ही कोविड-19 टीके का निर्यात फिर से शुरू करने की बात कही है।

कमला हैरिस ने कहा ‘माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आपका वाशिंगटन डीसी में स्वागत करना मेरे लिए बहुत बड़े गर्व की बात है। इतिहास गवाह है कि जब भी हम दोनों देश एक दूसरे के साथ खड़े हुए हैं, दोनों देशों ने खुदको ज्यादा सुरक्षित, मज़दूत और समृद्ध समझा है।’

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने आज अमेरिकी उप-राष्ट्रपति कमला हैरिस से पहली बार व्यक्तिगत तौर पर मुलाकात की। उन्होंने हाल के वैश्विक और क्षेत्रीय विकास पर चर्चा की। कोविड और वैक्सीनेशन उनकी चर्चा का मुख्य हिस्सा रहा।

विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि दोनों देशों ने भविष्य में स्पेस कोपरेशन, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, इमरजींग एंड क्रिटिकल टेक्नोलोजी, हेल्थ सेक्टर में साथ काम करने पर चर्चा की।

गौरतलब है कि देश में महामारी की दूसरी लहर आने के बाद इस साल अप्रैल में भारत ने कोविड टीकों के निर्यात को रोक दिया था। सोमवार को, भारत ने कहा कि वह ”वैक्सीन मैत्री” कार्यक्रम के तहत और कोवैक्स वैश्विक अभियान के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए 2021 की चौथी तिमाही में आवश्यकता से अतिरिक्त टीकों का निर्यात फिर से शुरू करेगा।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button