छत्तीसगढ़

PM मोदी ने ग्राम जांगला में किया ग्रामीण बीपीओ केन्द्र का अवलोकन

रायपुर : प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के ग्राम जांगला में डिजिटल इंडिया अभियान के तहत संचालित सामान्य सेवा केन्द्र (कॉमन सर्विस सेंटर) और ग्रामीण बी.पी.ओ. केन्द्र का अवलोकन किया। उन्होने इन केन्द्रों के सुचारू संचालन के लिए जिले के युवाओं की कार्य कुशलता की प्रशंसा की। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री डॉ0 रमन सिंह ने सी.एस.सी. में डिजिटल इंडिया के तहत संचालित कार्यों पर आधारित 02 मिनट का डॉक्यूमेन्ट्री फिल्म का अवलोकन भी किया। जांगला के इस कॉमन सर्विस सेंटर का संचालन जांगला सहित आप-पास के सुनील कुमार कंडिक, सुमन सकनी, गोविन्द पुजारी, आरती कोरसी, और शिव वांदेकर द्वारा किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कॉल सेंटर का अवलोकन किया।

उन्होंने कॉल सेंटर संचालक गोविंद यादव से सेंटर से कार्यों की जानकारी ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गोविन्द से पूछा कि वे कॉल सेंटर में कितने घंटे कार्य करते हैं ? इस प्रश्न के जबाब में उन्होने बताया कि वे जांगला से करीब 05 कि.मी. दूर कोण्ड्रोजी गांव से रोज आना-जाना कर काल सेंटर में 09 घंटे कार्य करते है। उन्होने बताया कि अब तक उन्हे विभिन्न ऑन लाईन कार्यों के लिए करीब 35 लोगो का कॉल आ चुका है। गोविन्द ने कहा कि कॉमन सर्विस सेंटर में काम कर उन्हे अच्छा अनुभव हो रहा है।

ज्ञातव्य है कि छत्तीसगढ़ में डिजिटल इंडिया के तहत लोगों को विभिन्न ऑन लाईन सेवाएं प्रदान करने संबंधी कार्यों का सकारात्मक क्रियान्वयन किया जा रहा है। राज्य में प्रति हजार व्यक्ति पर 139 व्यक्तियों द्वारा इस विधा का उपयोग किया जा रहा है। जो देश में प्रथम स्थान पर है। इसी प्रकार प्रति 1000 व्यक्ति पर ट्रांजेक्शन की राशि 33297 रूपये है। डिजिटल ट्रांजेक्शन में भी छत्तीसगढ़ का देश में पहला स्थान है। छत्तीसगढ़ में कुल 45 लाख डिजिटल ट्रांजेक्शन हुआ है। इसमें छत्तीसगढ़ का द्वितीय स्थान है।

राज्य में स्थित सी.एस.सी. द्वारा 130 करोड़ रूपये का डिजिटल ट्रांजेक्शन किया जा चुका है। इसमें छत्तीसगढ़ देश में दूसरे स्थान पर है। छत्तीसगढ़ में प्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान के तहत कुल 7 लाख 36 हजार 405 हितग्राहियों का पंजीयन किया जा चुका है। राज्य में कुल 18,587 सी.एस.सी. (कॉमन सर्विस सेंटर) संचालित किया जा रहा है। राज्य की 9990 ग्राम पंचायतों में सी.एस.सी. संचालित हो रही है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.