PM Modi ने राष्ट्रपति को सौंपा इस्तीफा, कोविंद ने कैबिनेट को दी डिनर पार्टी

नई दिल्ली : Lok Sabha Election Results 2019 में प्रचंड जीत के बाद नई दिल्ली में भाजपा की केंद्रीय कैबिनेट की बैठक हुई। इस दौरान केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 16 वीं लोकसभा को भंग करने का प्रस्ताव पारित किया। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलकर अपना और पूरी कैबिनेट का इस्तीफा सौंप दिया है। केंद्रीय कैबिनेट के सम्मान में आज राष्ट्रपतिभवन में रामनाथ कोविंद ने डिनर का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी और एनडीए कैबिनेट के सभी मंत्री रहे मौजूद।

16वीं लोकसभा भंग करने और कैबिनेट का इस्तीफा सौंपे जाने के बाद अब भाजपा केंद्र में नई सरकार बनाने और नई कैबिनेट गठित करने की प्रक्रिया शुरू करेगी। शुक्रवार शाम हुई कैबिनेट बैठक में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, रेल मंत्री पीयूष गोयल, नितिन गडकरी समेत तमाम नेता शामिल हुए। इस बैठक में तबीयत खराब होने से वित्तमंत्री अरुण जेटली शामिल नहीं हुए। हालांकि, उन्होंने अपने घर पर एक मीटिंग की।

मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल तीन जून को खत्म हो रहा है। इसके बाद नई लोकसभा का गठन होगा। नई लोकसभा के गठन के लिए चुनाव आयुक्त राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे और नवनिर्वचित उम्मीदवारों की लिस्ट सौपेंगे।

जानकारी अनुसार प्रधानमंत्री मोदी 30 मई को शपथ ग्रहण कर सकते हैं। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) वरिष्ठ भाजपा नेता लालकृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) और मुरली मनोहर जोशी (Murli Manohar Joshi) से मुलाकात की और उनसे आशीर्वाद लिया। इस दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) भी मौजूद थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहले लालकृष्ण आडवाणी से मुलाकात की, फिर इसके बाद मुरली मनोहर जोशी के घर गए। प्रधानमंत्री ने इस चुनाव में भाजपा की ऐतिहासिक जीत का श्रेय आडवाणी को दिया। उन्‍होंने ट्वीट किया कि आडवाणी जी से मुलाकात की। भाजपा को इतनी बड़ी सफलता इसलिए मिली, क्योंकि आडवाणी जी जैसे महान नेताओं ने पार्टी को खड़ा करने में दशकों तक काम किया। प्रधानमंत्री ने वरिष्‍ठ भाजपा नेता मुरली मनोहर जोशी की भी तारीफ की। डॉ. मुरली मनोहर जोशी बेहद विद्वान हैं। उन्होंने सदैव पार्टी की मजबूती के लिए काम किया। मेरे जैसे कई कार्यकर्ताओं को इनका मार्गदर्शन मिला है।

Back to top button