ब्रिक्स सम्मेलन में बोले PM मोदी- युवाओं के भविष्य के लिए बदलना होगा सिलेबस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन अफ्रीकी देशों के दौरे पर हैं। युगांडा के दो दिवसीय दौरे के बाद उन्होंने दक्षिण अफ्रीका में जोहानसबर्ग ब्रिक्स सम्मेलन के 10वें संस्करण मे हिस्सा लिया। इस सम्मेलन के दौरान पीएम ने कहा कि हमें अपने स्कूलों और विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रम को इस तरह से बदलना होगा जिससे कि वह भविष्य के लिए युवाओं को तैयार करें।

मोदी ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना है कि प्रौद्योगिकी में बदलाव की गति को हमारे पाठ्यक्रम में जगह मिले। बता दें कि दक्षिण अफ्रीका इस उत्‍सव की दूसरी बार मेजबानी कर रहा है। ब्रिक्स सम्मेलन में वैश्विक मुद्दों, अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा, वैश्विक शासन और व्यापार संबंधी मुद्दों समेत कई मामलों पर विचार-विमर्श किया गया। इस दौरान पीएम ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग समेत ब्रिक्स के कई अन्य नेताओं से मुलाकात की। ब्रिक्स समूह में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री ने युगांडा की अपनी दो दिवसीय यात्रा बुधवार को पूरी की। इस दौरान उन्होंने युगांडा के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी के साथ व्यापक मुद्दों पर बातचीत की और द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने पर चर्चा की। मोदी मंगलवार शाम युगांडा की राजधानी कम्पाला पहुंचे थे। यह 1997 के बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली द्विपक्षीय यात्रा थी।

पीएम मोदी ने युगांडा की संसद में घोषणा की थी कि भारत आतंकवाद और अतिवाद से मुकाबले के लिए अफ्रीका के साथ अपना सहयोग एवं परस्पर क्षमताओं को मजबूत करेगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक ट्वीट में कहा, कि दोनों देशों के बीच गर्मजोशी एवं जुड़ाव को प्रतिविंबित करने वाले एक विशेष भाव के तहत युगांडा के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी प्रधानमंत्री मोदी को विदा करने के लिए हवाई अड्डे आये।

Back to top button