श्रीलंका में सीरियल धमाकों पर पीएम मोदी ने की श्रीलंकाई राष्ट्रपति से बात, दिया हरसंभव मदद का भरोसा

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका में हुए भीषण आतंकी हमले के बाद वहां के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से फोन पर बात की है। पीएम मोदी ने श्रीलंका के नेताओं से बात कर आतंकी हमले की निंदा करते हुए करोड़ों भारतीयों की तरफ से 150 से ज्यादा लोगों की मौत पर शोक व्यक्त किया। इस दौरान पीएम मोदी ने श्रीलंका की सरकार को हरसंभव मदद करने का भरोसा भी दिया। इस आतंकी हमले को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि इसे पूरी तरह योजना बनाकर और बर्बरता के साथ अंजाम दिया गया, जिसने एक बार फिर समूची मानवता को हिलाकर रख दिया है।

यही नहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने श्रीलंका में सीरियल धमाकों की चर्चा चित्तौड़गढ़ की एक रैली में भी की। उन्होंने कहा कि भारत इस संकट की घड़ी में मजबूती के साथ श्रीलंका के साथ खड़ा है। पीएम मोदी ने जनसभा में कहा, ‘हमारे पड़ोस में, श्रीलंका में आतंकियों ने अनेक बम धमाके किए।

बम धमाके चर्च में हुए, होटलों में हुए। आज पूरे विश्व में ईस्टर का पवित्र पर्व मनाया जा रहा है। प्रभु यीशु के शांति के संदेश को दुनिया आत्मसात करने के लिए पूजा-पाठ करती है, बड़ी श्रद्धा के साथ संकल्प करती है। निर्दोष लोग आज चर्च में प्रार्थना कर रहे थे। ईस्टर का पर्व मना रहे थे, दिव्यात्मा की अनुभूति कर रहे थे तभी इन नराधम आतंकियों ने सैकड़ों की संख्या में छोटे-छोटे बच्चों को, माताओं को, बहनों को, निर्दोषों को मार दिया।’

उन्होंने कहा कि इस आतंकी हमले से एक बार फिर पता चला है कि आतंकवाद का खतरा मानवता के समक्ष कितनी बड़ी चुनौती है। पीएम मोदी ने कहा कि आतंकवाद हमारे क्षेत्र के अलावा पूरी दुनिया के लिए एक गंभीर चुनौती है। इससे पहले पीएम ने ट्वीट किया था, ‘श्रीलंका में भयानक धमाकों की कड़ी निंदा। हमारे क्षेत्र में ऐसी बर्बरता के लिए कोई जगह नहीं है। भारत श्रीलंका के लोगों के साथ मजबूती से खड़ा है। मेरी भावनाएं शोकसंतप्त परिवारों के साथ हैं और घायलों के लिए प्रार्थना करता हूं।’

बता दें कि श्रीलंका में सुबह ईस्टर के मौके पर तीन चर्चों और तीन बड़े होटलों को निशाना बनाते हुए 8 धमाके किए गए। इनमें 158 लोगों की मौत हुई है, जबकि 400 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। रविवार सुबह श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में सेंट एंथनी चर्च,
सेंट सेबेस्टिनय चर्च, बट्टीकलोआ का चर्च में ब्लास्ट किए गए। इसके अलावा होटल सांगरीला, होटल सिनेमोन ग्रैंड और होटल किंग्सबरी को निशाना बनाते हुए धमाके किए गए।

सोशल मीडिया पर बैन, रात में लगा कर्फ्यू

स्थिति की गंभीरता को देखते हुए श्रीलंका सरकार ने सोशल मीडिया पर अस्थायी तौर पर बैन लगा दिया है और रात के कर्फ्यू का ऐलान कर दिया है। अभी तक किसी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है। लेकिन माना जा रहा है किसी कट्टरपंथी संगठन ने इन हमलों को अंजाम दिया है। मरने वालों में 35 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं।

Back to top button