राष्ट्रीय

पीएम मोदी आज पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह को करेंगे संबोधित

पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, "कल 21 नवंबर को मैं पीडीपीयू, गांधीनगर के दीक्षांत समारोह को संबोधित करूंगा.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह में हिस्सा लेगें. साथ ही साथ वह छात्रों को संबोधित करेंगे. इस दीक्षांत समारोह में लगभग 2600 छात्र अपने डिग्री व डिप्लोमा प्राप्त करेंगे. दीक्षांत समारोह के दौरान पीएम मोनोक्रिस्टलाइन सोलर फोटो वोल्टाइक पैनल के 45 मेगावाट के उत्पादन संयंत्र और जल प्रौद्योगिकी पर उत्कृष्ठता केन्द्र की आधारशिला रखेंगे और पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय में ‘अभिनव और उद्भवन केन्द्र’ और ‘खेल परिसर’ का भी उद्घाटन करेंगे. पीएम मोदी ने शुक्रवार को एक ट्वीट में कहा, “कल 21 नवंबर को मैं पीडीपीयू, गांधीनगर के दीक्षांत समारोह को संबोधित करूंगा.

विभिन्न केंद्रों का उद्घाटन करेंगे, जोकि पीडीपीयू में अनुसंधान, नवाचार और सीखने को बढ़ावा देंगे.” बता दें, पंडित दीनदयाल पेट्रोलियम विश्वविद्यालय (PDPU) 4 अप्रैल 2007 को लागू किए गए राज्य अधिनियम के माध्यम से एक निजी विश्वविद्यालय के रूप में स्थापित किया गया था. यह विश्वविद्यालय विज्ञान, प्रौद्योगिकी, प्रबंधन और मानविकी के क्षेत्र में छात्रों को शिक्षित कर रहा है.

इस कार्यक्रम के अलावा पीएम आज दो पवित्र मस्जिदों के कस्टोडियन और सऊदी अरब के किंग महामहिम सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सौद के निमंत्रण पर 15वें जी20 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. सऊदी अरब की अध्यक्षता में 21-22 नवंबर को होने वाले सम्मेलन की थीम ‘सभी के लिए 21वीं सदी के अवसरों को हासिल करना’ रखी गई है. यह बैठक वर्चुअल माध्यम से होगी.

यह शिखर सम्मलेन इस साल जी20 नेताओं की दूसरी बैठक है. पीएम और सऊदी के क्राउन प्रिंस के बीच टेलीफोन पर हुई बातचीत के बाद मार्च 2020 में आखिरी जी20 असाधारण नेताओं का शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया था, जहां नेताओं ने जी20 देशों के बीच कोविड-19 महामारी के प्रसार को रोकने में मदद और एक वैश्विक समन्वित प्रतिक्रिया के लिए समय पर समझ विकसित की थी. इस शिखर सम्मेलन के केंद्र में कोविड-19 से समावेशी, लचीले और स्थायी रिकवरी होगी. साथ ही साथ नेता महामारी को लेकर तैयारियों और नौकरियों को बहाल करने के तरीकों और साधनों पर चर्चा करेंगे. एक समावेशी, टिकाऊ और बेहतर भविष्य बनाने के लिए नेता अपना दृष्टिकोण भी साझा करेंगे.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button