पीएम मोदी आज ओडिशा और केरल में करेंगे कई परियोजनाओं की शुरुआत

सीएम पटनायक पीएम मोदी के कार्यक्रम में नहीं होंगे शामिल

नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनाव 2019 के पहले पीएम मोदी ओडिशा और केरल को कई परियोजनाओं का सौगात देने के लिए आज यहाँ आ रहे हैं. ओडिशा के झारसुगुडा में प्रधानमंत्री मल्टी मोडल लॉजिस्टिक्स पार्क (एमएमएलपी) और अन्य विकास परियोजनाओं की शुरुआत करेंगे.

इसके अलावा वह बलांगीर और बिचुपली के बीच एक नये रेलवे लाइन की भी शुरुआत करेंगे. प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से जारी एक बयान के मुताबिक वह सोनपुर केंद्रीय विद्यालय के स्थायी भवन की आधारशिला रखेंगे.

सौ करोड़ रुपये की लागत से एमएमएलपी का निर्माण

एमएमएलपी का निर्माण सौ करोड़ रुपये की लागत से किया जा रहा है और इससे आयात-निर्यात और घरेलू माल ढुलाई में सहूलियत होगी.यह हावड़ा-मुंबई लाइन पर स्थित है, जो झारसुगुडा रेलवे स्टेशन से पांच किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. इसके आसपास स्टील, सीमेंट, कागज सहित कई महत्पूर्ण उद्योग स्थित हैं और इन उद्योगों को एमएमएलपी से लाभ मिलेगा.

बयान में कहा गया है कि 15 किलोमीटर लंबा बलांगीर-बिचुपली नया रेल लाइन तटीय ओडिशा को राज्य के पश्चिमी हिस्से से जोड़ेगा. इससे भुवनेश्वर और पुरी जैसे बड़े शहरों से नई दिल्ली और मुंबई के बीच यात्रा समय में कमी आएगी.

राष्ट्र को समर्पित

प्रधानमंत्री 813 किलोमीटर लंबे झारसुगुडा- विजयनगरम रेलमार्ग और संबलपुर-अंगुल लाइन के विद्युतीकरण को भी राष्ट्र को समर्पित करेंगे. 1085 करोड़ रुपये की लागत से इन परियोजनाओं को पूरा किया गया है.

प्रधानमंत्री केरल में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 66 पर कोल्लम बाइपास का उद्घाटन करेंगे. यह 13 किलोमीटर लंबा दो लेन का बाईपास है और अष्टमुडी झील पर इसमें तीन बड़े पुल बने हुए हैं.

यात्रा समय में कमी

इस परियोजना से अलपुझा और तिरूवनंतपुरम के बीच यात्रा समय में कमी आएगी और कोल्लम शहर में यातायात भीड़भाड़ कम होगा. तिरूवनंतपुरम में मोदी पद्मनाभस्वामी मंदिर में दर्शन करेंगे और वहां श्रद्धालुओं की सुविधाओं के लिए बनने वाले स्थान की पट्टिका का अनावरण करेंगे.

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य के एक दिवसीय दौरे के दौरान उनके आधिकारिक कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे, क्योंकि वह राज्य सरकार के कार्यक्रमों में व्यस्त रहेंगे. आधिकारिक सूत्रों ने इस बारे में बताया है.

प्रधानमंत्री पश्चिमी ओडिशा के बलांगीर की यात्रा के दौरान आधारभूत संरचना विकास, संपर्क और व्यापार में सहूलियत पर कई परियोजनाएं शुरू करेंगे. पटनायक राज्य सरकार के ‘कृषि ओडिशा’ कार्यक्रम में व्यस्त रहने की वजह से प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में हिस्सा नहीं लेंगे. पटनायक को बैठक में किसानों को संबोधित करना है.

1
Back to top button