राष्ट्रीय

पटना यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह में शामिल होंगे PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज पटना विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह में हिस्सा लेंगे. इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, राज्यपाल सतपाल मलिक और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी शिरकत करेंगे. इनके अलावा केंद्रीय मंत्रियों में रामविलास पासवान, रविशंकर प्रसाद, उपेंद्र कुशवाहा और अश्विनी कुमार चौबे भी इस समारोह में हिस्सा लेंगे.

पटना विश्वविद्यालय के कुलपति रास बिहारी प्रसाद सिंह ने बताया कि समारोह की सारी तैयारियां की जा चुकी हैं. समारोह में हिस्सा लेने के लिए आ रहे प्रधानमंत्री मुख्य आकर्षण होंगे. प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री अपने विचारों से उपस्थित जनों को अवगत कराएंगे.

प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के मुताबिक, वे शनिवार को पटना में करीब साढ़े चार घंटे रुकेंगे. वे सुबह 10.40 बजे पटना एयरपोर्ट पहुंचेंगे. वहां से प्रधानमंत्री हेलीकॉप्टर के जरिये साइंस कॉलेज पहुंचेंगे, जहां विश्वविद्यालय शताब्दी समारोह का मुख्य कार्यक्रम होगा.

विश्वविद्यालय शताब्दी वर्ष समारोह के आयोजन के बाद प्रधानमंत्री एयरपोर्ट के लिए 12.15 बजे रवाना होंगे. वहां से वे हेलीकॉप्टर में मोकामा जाएंगे, जहां वे 4000 करोड़ रुपये की कुछ योजनाओं को लॉन्च करेंगे. इनमें राष्ट्रीय हाईवे से जुड़े 3031 करोड़ रुपये के चार प्रोजेक्ट और 738.04 करोड़ रुपए के तीन प्रोजेक्टों का शिलान्यास करेंगे. प्रधानमंत्री मोकामा में एक जनसभा को भी संबोधित करेंगे. ढाई बजे प्रधानमंत्री पटना एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे जहां से 3.10 बजे वे दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे.

बिहार में जेडीयू-बीजेपी गठबंधन सरकार आऩे के बाद से प्रधानमंत्री का ये दूसरा दौरा होगा. साथ ही सरकार बनने के बाद ये पहला मौका है, जब प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक साथ किसी सार्वजनिक कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे.

हालांकि ये समारोह विवाद के साये से अछूता नहीं रहा है. बीजेपी नेता और पटना साहिब लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का कहना है कि स्थानीय सांसद होने के बावजूद इस समारोह का निमंत्रण उन्हें नहीं मिला जिसकी वजह से वो आहत हैं. वहीं पटना विश्वविद्यालय के कुलपति का कहना है कि शत्रुघ्न सिन्हा को भी कार्यक्रम का निमंत्रण भेजा गया है.

राष्ट्रीय जनता दल के प्रमुख लालू प्रसाद इस समारोह का निमंत्रण मिलने के बावजूद इसमें हिस्सा नहीं लेंगे. लालू अपनी पत्नी राबड़ी देवी और पुत्र तेजस्वी यादव बीते एक हफ्ते से दिल्ली में हैं. वे लगभग हर दिन प्रवर्तन निदेशालय (ED), आयकर विभाग और सीबीआई के सवालों का सामना कर रहे हैं.

वहीं पटना विश्वविद्यालय के छात्रों की मांग है कि प्रधानमंत्री अपने दौरे के दौरान विश्वविद्यालय को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देने की घोषणा करें जो कि कभी बिहार का चमकता गौरव होती थी, दोबारा उस महिमा को प्राप्त कर सके.

Summary
Review Date
Reviewed Item
पटना विश्वविद्यालय
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.