बजट सत्र: पीएम मोदी ने कहा, तीन तलाक बिल पास कर नए साल में मुस्लिम महिलाओं को दें गिफ्ट

पीएम मोदी ने संसद भवन के बाहर संवाददाताओं से कहा कि उनकी सरकार के प्रयासों और लोगों की अकांक्षाओं के बावजूद पिछले सत्र में तीन तलाक विधेयक पारित नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि यद्यपि इस मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए थी क्योंकि यह मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों से संबंधित है, लेकिन यह विधेयक पारित नहीं किया जा सका.

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि यह बजट सामान्य लोगों की आशाओं को पूरा करने वाला होगा. उन्‍होंने सभी राजनीतिक दलों से ‘विनम्र आग्रह’ किया कि वे एक बार में तीन तलाक संबंधी विधेयक को पारित कराने में मदद करें. उन्होंने यह भी कहा कि इस विधेयक का पारित होना मुस्लिम महिलाओं के लिए नववर्ष का उपहार होगा.<>

पीएम मोदी ने संसद भवन के बाहर संवाददाताओं से कहा कि उनकी सरकार के प्रयासों और लोगों की अकांक्षाओं के बावजूद पिछले सत्र में तीन तलाक विधेयक पारित नहीं हो सका. उन्होंने कहा कि यद्यपि इस मुद्दे पर कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए थी क्योंकि यह मुस्लिम महिलाओं के अधिकारों से संबंधित है, लेकिन यह विधेयक पारित नहीं किया जा सका।<>

मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक-2017 संसद के पिछले शीतकालीन सत्र में पारित हो गया था और फिलहाल यह राज्यसभा में लंबित है. कई विपक्षी दल इसे प्रवर समिति के पास भेजने की मांग कर रहे हैं.<>

उन्‍होंने कहा कि य‍ह बजट तेजी से बढ़ रही अर्थव्‍यस्‍था को गति देगा और इस बजट का सबसे अधिक फायदा किसान, मजदूर को कैसे मिले, इसको लेकर हमें सकारात्‍मक सुझाव मिलें हैं और हम रेडमैप बनाकर आगे बढ़ें.<>

पीएम मोदी ने कहा कि जब भारत की प्रगति को लेकर पूरा विश्व आशान्वित हैं. विश्व की सभी क्रेडिट एजेंसी, वर्ल्ड बैंक, आईएमएफ सकारात्मक ऑपिनियन देती रहीं हैं. यह बजट देश की बढ़ रही अर्थव्‍यवस्‍था को एक नई ऊर्जा देने वाला होगा.<>

1
Back to top button