आषाढ़-पूर्णिमा और धम्म चक्र दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संबोधन

प्रधानमंत्री मोदी ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी

नई दिल्लील गुरु पूर्णिमा का पर्व गुरु महर्षि वेद व्यास जी के जन्म तिथि के अवसर पर मनाया जाता है. महर्षि व्यास जी ने हिंदू धर्म के चारों वेदों का ज्ञान दिया है. वहीँ आषाढ पूर्णिमा के अवसर पर धम्म चक्र दिवस मनाया जाता है.

यह दिवस उत्तर प्रदेश में वाराणसी के निकट वर्तमान समय के सारनाथ में ऋषिपटन स्थित हिरण उद्यान में आज ही के दिन महात्मा बुद्ध द्वारा अपने प्रथम पांच तपस्वी शिष्यों को दिए गए ‘प्रथम उपदेश’ को ध्यान में रखकर मनाया जाता है.

इसी अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आषाढ़-पूर्णिमा और धम्म चक्र दिवस पर यानी शनिवार को सुबह अपना संदेश देशवासियों के साथ साझा करेंगे. प्रधानमंत्री मोदी ने इस बारे में ट्वीट कर जानकारी दी. आषाढ़ मास की पूर्णिमा को गुरू पूर्णिमा कहा जाता है. पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु की पूजा अर्चना की जाती है.

माना जाता है कि इसी दिन महर्षि वेदव्यास का जन्म हुआ था. क्योंकि गुरु वेद व्यास ने ही पहली बार मानव जाति को चारों वेद का ज्ञान दिया था, इसलिए उन्हें प्रथम गुरू मानते हुए उनकी जन्मतिथि को गुरू पूर्णिमा या व्यास पूर्णिमा के नाम से जाना जाता है.

पीएम मोदी ने ट्विट करते हुए लिखा, “कल 24 जुलाई को लगभग 8:30 बजे आषाढ़ पूर्णिमा-धम्म चक्र दिवस कार्यक्रम में अपना संदेश साझा करूंगा.” इस बार गुरू पूर्णिमा की पावन तिथि 23 जुलाई 2021 को सुबह 10:43 ​बजे से शुरू होकर 24 जुलाई 2021 की सुबह 08:06 बजे तक रहेगी. लेकिन उदया तिथि के कारण इसे 24 जुलाई को मनाया जाएगा.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button